spot_img

देवनगरी पहुंचे,होगी अच्छी अनुभूति,डीसी,एसपी ने लिया तैयारिओं का जाएजा

देवघर:

आगामी श्रावणी मेला की तैयारी युद्धस्तर पर जारी है। देवघर डीसी व एसपी सभी अधिकारियो के दल के साथ कांवरिया पथ के निरीक्षण को निकले। निरीक्षण के दौरान अधिकारियो की टीम ने दुम्मा से लेकर खिजुरिया तक के कांवरिया पथ का बारीकी से निरीक्षण किया। इस दौरान उपायुक्त ने सभी विभागों के अधिकारियो को सभी तैयारी हर हाल में ससमय पूरा करने का निर्देश दिया। वही एसपी भी सुरक्षा के दृष्टिकोण से सभी तैयारियो को लेकर निर्देशित किया

राजकीय श्रावणी मेला, 2019 को लेकर उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा एवं पुलिस अधीक्षक  नरेन्द्र कुमार सिंह द्वारा संयुक्त रूप से आगामी श्रावणी मेला के मद्देनज़र बाबा बैद्यनाथधाम आने वाले देवतुल्य श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा व सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक व दुरूस्त इंतजाम  को लेकर सर्वप्रथम दुम्मा  कांवरिया पथ से व्यवस्थाओं का अवलोकन करते हुए देवपुरा, बांक, सरासनी एवं दर्दमारा गेट तक व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर की जाने वाली तैयारियों की बारीकी से जांच कर संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। इसके अलावे कांवरिया पथ में बनाये जाने वाले प्रशासनिक शिविर, ओपी, स्वास्थ्य केन्द्र, सूचना-सह-सहायता केन्द्र, होल्डिंग प्वाइंट, शौचालय एवं स्नानागर आदि की वास्तुस्थिति से अवगत हुए। साथ हीं उन्होंने कार्यपालक अभियन्ता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, देवघर को निदेशित किया कि कांवरिया पथ के किनारे एवं गाँव के बाहर पथों की सफाई एवं अगल-बगल के झाड़ियों की सफाई ससमय सही तरीके से करा लें। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में साफ-सफाई हेतु अलग-अलग टीम बनायें, जो कि अपने-अपने क्षेत्र में चैबिसों घंटे कार्यरत रहेंगें। नलों से निकलने वाले पानी पथों पर जहां-तहां न बहे इस हेतु उपायुक्त द्वारा कार्यपालक अभियन्ता, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया।

नहीं होगी पेय जल की किल्लत: 

अवलोकन के क्रम में उपायुक्त  राहुल कुमार सिन्हा ने कार्यपालक अभियन्ता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, देवघर एवं नगर निगम के अधिकारियों को निदेशित किया कि सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में पेयजल व शौचालय की समुचित व्यवस्था के साथ-साथ स्नानागार में मग, बाल्टी के साथ सभी शौचालयों में हाथ धोने हेतु साबुन की समुचित व्यवस्था करने का निदेश दिया। इसके अलावे  उपायुक्त  ने निदेशित किया कि चापाकलों की मरम्मति की जाय और यह सुनिश्चित किया जाय कि कांवरिया पथ एवं रूटलाईन में पेयजल आपूर्ति की समस्या किसी भी सूरत में उत्पन्न न हो। 

बिजली  व्यवस्था  रहेगी दुरुस्त :

अवलोकन के क्रम मे उपायुक्त  ने कार्यपालक अभियन्ता विद्युत आपूर्ति प्रमण्डल को निदेशित किया कि रूटलाईन के साथ-साथ सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में बिजली की व्यवस्था को दुरूस्त करते हुए पूरे कांवरिया पथ में मैटल लाईट लगाई जाय, जिससे कांवरिया पथ पूरी तरह से चका-चैंद रहेगा और श्रद्धालुओं को आवागमन करने में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं होगी। साथ हीं बिजली व्यवस्था सुचारू रूप से चलती रहे इस हेतु बैक अप प्लान के साथ-साथ अन्य संबंधित व्यवस्थाओं को भी पूरी तरह दुरूस्त कर रखें। इसके अलावे उन्होंने रूटलाईन व मंदिर के आस-पास नीचे झुकी हुई सभी तार को जल्द से जल्द ठीक करने का निदेश दिया। इसके अलावे उन्होंने रूटलाईन के साथ-साथ सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में पर्याप्त रौशनी व विद्युत व्यवस्था को सुदृढ़ करने का निदेश दिया।

तैयार हो रहा टेंट सिटी :

इसके अलावे उपायुक्त ने कोठिया में बन रहे टेंट सिटी एवं बस स्टैंड का भी निरीक्षण किया गया और मौके पर उपस्थित संवेदकों को उचित दिशा-निर्देश देते हुए कहा गया कि टेंट सिटी में पेयजल, शौचालय एवं स्नानागार की समुचित व्यवस्था की जाय। साथ ही स्वच्छता का खासा ख्याल रखा जाय और यह सुनिश्चित किया जाय कि टेंट सिटी के अंदर प्राथमिक उपचार की भी व्यवस्था रहे। इसके अलावे उन्होंने कहा कि बढ़ती गर्मी व श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष टेंट की ऊँचाई बढ़ाई गयी है एवं वेंटिलेशन की समुचित व्यवस्था की गई है, ताकि श्रद्धालुओं को गर्मी महसूस न हो।

बस पड़ाव का निर्माण:

बाघमारा बस स्टैंड के निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने कड़े शब्दों में निदेशित किया गया कि बस पड़ाव का निर्माण सही तरीके से किया जाय एवं किसी भी सूरत में बस स्टेंड में कीचड़ व जल-जमाव की स्थिति उत्पन्न न हो। इसके साथ हीं बतलाया गया कि बस स्टेंड में सेपरेट पार्किंग की व्यवस्था की गई है जहां छोटी वाहनों का अलग एवं बड़े वाहनों का अलग पड़ाव होगा। इसके साथ हीं बस स्टेंड में वाहनों के आवागमन हेतु प्रवेश व निकास द्वार अलग-अलग बनाया गया है। इसके अलावे बैक अप के तौर पर एक और रास्ता बनाया जा रहा है, ताकि वाहन पड़ाव को लेकर श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े। इसके अलावे उन्होंने कहा कि गाड़ियों को व्यवस्थित करते हुए सही तरीके से पार्किगं कराना जिला प्रशासन के लिए एक चुनैातीपुर्ण कार्य है एवं वहाँ जाम की समस्या उत्पन्न न हो इसके लिए पहले से ही पूर्ण तैयारी सुनिश्ति कर ली जाय, ताकि सभी गाड़ियो को सही तरीके से पार्क कराया जा सके। 

उपायुक्त द्वारा वहाँ उपस्थित अधिकारियो को निदेशित किया गया कि बस स्टेंड के निर्माण हेतू र्पािर्कगं क्षेत्र के अलावे जो भी रास्ता आस-पास बनाये, उन रास्तों मे पेभर्स ब्लाॅक, पी0सी0सी0 या फिर स्टोन डस्ट का उपयोग अवश्य करें। इससे लोगो  को आवागमन मे आसानी होगी और जाम की स्थिति से भी निजात मिलेगा। उन्होने कहा कि पार्किगं क्षेत्र का निर्माण इस प्रकार कराया जाय कि कहीं भी पानी का जमावरा ना हो एवं साफ सफाई की समुचित व्यवस्था के साथ-साथ जगह जगह डस्टबीन लगाया जाय। 

बेहतर पुलिस आवासन:

निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त एवं  द्वारा विभिन्न जगहों में बन रहे पुलिस आवासन हेतु की जा रही व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया गया एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को निदेशित किया गया कि शौचालय, पेयजल एवं स्नानागार की समुचित व्यवस्था की जाय, ताकि बाहर से आने वाले पुलिस पदाधिकारियों एवं सुरक्षाकर्मियों को यहां आवासन में किसी प्रकार की कठिनाईयों का सामना न करना पड़े। 

कुमैठा स्टेडियम में होल्डिंग प्वाइंट:

इसके पश्चात उपायुक्त  ने नेहरू पार्क, शिवगंगा, क्यू-कम्पैक्स, तिवारी चैक, बी एड काॅलेज, जलसार पार्क आदि जगहों पर चल रहे निर्माण कार्यों का अवलोकन कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया। इसके अलावे सोमवारी को होने वाले भीड़ नियंत्रण को लेकर कुमैठा स्टेडियम में होल्डिंग प्वाइंट के निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। इस दौरान जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी, देवघर को निदेशित किया कि सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में शिवधून बजने के साथ-साथ श्रद्धालुओं के आवश्यकतानुसार नंबरों को बैनर-पोस्टर के माध्यम से प्रदर्शित करें।

निरीक्षण के पश्चात उपायुक्त ने अधिकारियों को स्पष्ट निदेश दिया कि 17 जुलाई, 2019 से राजकीय श्रावणी मेला की शुरूआत होगी और इससे ठीक पहले बंग्ला सावन ऐसे में सारी तैयारियों को 10 जुलाई तक पूरी तरह से पूर्ण कर लें। 

इसके उपरांत उपायुक्त  ने सभी नये अधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि सभी विभाग आपसी सामंजश बिठाकर कार्य करें, जिससे कि श्रावणी मेले में आए हुए सभी श्रद्धालुओं को देवनगरी आने की एक अच्छी अनुभूति मिल सके। साथ हीं उपायुक्त  ने पूरे कांवरिया रूटलाईन में बालू बिछाव पर विशेष ध्यान देने का निदेश दिया एवं मेहिन बालू का हीं प्रयोग पूरे रूटलाईन में करने का निदेश दिया गया, उन्होंने कहा कि पैदल आने वाले श्रद्धालुओं को ज्यादा कठिनाईयों का सामना न करना पड़े।                                                                                                                                                          

 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!