spot_img

डॉक्टर ने घूसखोर जेई व मिस्त्री को कराया गिरफ्तार

Deoghar Airport का रन-वे बेहतर: DGCA

रिपोर्ट: करुणा करण 

पलामू: 

मेदिनीनगर शहर के जाने-माने शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. संजय तिवारी की शिकायत पर एसीबी पलामू की टीम ने बिजली विभाग के कनीय अभियंता दीपक गुप्ता एवं बिजली मिस्त्री निरंजन दुबे को घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। यह जानकारी भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के पुलिस अधीक्षक ने दी है।

उन्होंने बताया है कि डॉ. संजय तिवारी द्वारा एसीबी पलामू को आवेदन देकर बताया गया था कि उन्होंने अपने क्लिनिक में बिजली कनेक्शन देने के लिए विद्युत विभाग के कार्यालय में आवेदन दिया था, जिसमें नया बिजली मीटर निर्गत करने एवं विद्युत कनेक्शन का ऑर्डर देने के नाम पर कनीय अभियंता दीपक गुप्ता 15 हजार रुपये बतौर रिश्वत मांग रहे थे। एसीबी एसपी के अनुसार डॉ. संजय द्वारा असमर्थता जताये जाने के बाद 10 हजार रुपये रिश्वत की राशि तय हुई। हालांकि डॉ. संजय रिश्वत देना नहीं चाहते थे इसलिए उन्होंने आवेदन देकर इसकी सूचना एसीबी पलामू को दी। मामले का सत्यापन सही पाये जाने के बाद एसीबी की टीम ने निर्धारित रणनीति के तहत जेई दीपक गुप्ता समेत बिजली मिस्त्री निरंजन दुबे को घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया।

बताया जाता है कि पकड़ा गया जेई दीपक गुप्ता मध्य प्रदेश के सतना जिला के सिंहपुर गांव का निवासी है, तो बिजली मिस्त्री निरंजन दुबे पलामू के नावाबाजार थाना के बसना गांव का रहने वाला है। एसीबी टीम के अनुसार घूसखोरों के खिलाफ पलामू की टीम का यह आठवां ट्रैप केस है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!