spot_img

कांवरिया रूट लाइन पर Deoghar SP निकल पड़े पैदल, भक्तों की सुविधाओं का ट्रायल

Deoghar: कोविड काल के दो वर्षों के बाद देवघर में श्रावणी मेला का आयोजन हो रहा है। जाहिर सी बात है दो साल के अंतराल के बाद यहां पहुंचने वाले भक्तों को दी जाने वाली सुविधाओं को व्यवस्थित करना पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती है।

मेला में पहुंचने वाले भक्तों की कतार को व्यवस्थित करने और भीड़ की दबाव की स्थिति से निपटने के लिए देवघर एसपी ने रणनीति बनाई है। इसी रणनीति को अमलीजामा पहनाने के मकसद से देवघर एसपी ने खुद ही तमाम पुलिस पदाधिकारियों की टीम के साथ पैदल कुमैठा स्टेडियम तक पुरे रूट लाइन का जायजा लिया।

श्रावणी मेला की तैयारी को लेकर रूट लाइन का निरीक्षण करने के लिए शनिवार को देवघर एसपी सुभाषचंद्र जाट बाबा मंदिर स्थित क्यू कॉम्प्लेक्स पहुंचे। क्यू कॉम्प्लेक्स से निकल कर एसपी पैदल ही सभी पदाधिकारियों के साथ रूट लाईन के निरीक्षण में निकले। इस दौरान हदहदिया पुल होते हुए, बरमसिया, बेलाबगान, सिंघवा होकर पैदल ही कुमैठा पहुंचे।

एसपी ने बताया कि पुराने पुलिस पदाधिकरियों के साथ कांवरिया रूट लाइन का निरीक्षण किया। श्रावणी मेला में देवघर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को जलार्पण कैसे सुलभ तरीके से कराया जाये, इसकी जानकारी ली जा रही है। बताया कि जहां-जहां ज्यादा फोर्स की जरूरत है, उक्त स्थल को चिन्हित किया जा रहा है।

एसपी ने कहा कि इस बार श्रावणी मेला में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ने की संभावना को लेकर ज्यादा पुलिस बल की तैनाती की जाएगी। एसपी ने रूट लाइन में पड़ने वाले सड़क और पार्किंग स्थलों का निरीक्षण कर संबंधित पुलिस पदाधिकारी को ट्रैफिक व्यवस्था को मजबूत करने को कहा।

एसपी के साथ सदर एसडीपीओ पवन कुमार, मुख्यालय डीएसपी मंगल सिंह जामुदा, स्पेशल ब्रांच के प्रभारी डीएसपी अनिल शर्मा,  इंसपेक्टर सत्येन्द्र कुमार, इंस्पेक्टर जागेश्वर टोप्पो, सार्जेंट मेजर शेरू रंजन, यातायात थाना प्रभारी राजीव कुमार, एएसआई श्याम कुमार छोटू सहित कई पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!