Global Statistics

All countries
242,917,357
Confirmed
Updated on Thursday, 21 October 2021, 4:56:13 pm IST 4:56 pm
All countries
218,451,095
Recovered
Updated on Thursday, 21 October 2021, 4:56:13 pm IST 4:56 pm
All countries
4,939,868
Deaths
Updated on Thursday, 21 October 2021, 4:56:13 pm IST 4:56 pm

Global Statistics

All countries
242,917,357
Confirmed
Updated on Thursday, 21 October 2021, 4:56:13 pm IST 4:56 pm
All countries
218,451,095
Recovered
Updated on Thursday, 21 October 2021, 4:56:13 pm IST 4:56 pm
All countries
4,939,868
Deaths
Updated on Thursday, 21 October 2021, 4:56:13 pm IST 4:56 pm
spot_imgspot_img

Miss Jharkhand रह चुकी मॉडल ने कचरे के ढेर पर किया रैंप वॉक, कहा- यह तस्वीर बदलनी चाहिए

कचरे के पहाड़ पर मिस झारखंड रह चुकी फैशन मॉडल सुरभि ने यहां रैंप वॉक किया और वीडियो बनाया।

रांची: राजधानी रांची के रिंग रोड से गुजरते वक्त जब झिरी आता है, तो वहां से गुजरने वाले कार व अन्‍य वाहनों में मौजूद लोग शीशा बंद कर लेते हैं। लोग अपनी नाक व मुंह पर रुमाल रख लेते हैं। लोगों की इस परेशानी से सरकार और उनके नुमाइंदे को एक 18 साल की लड़की सुरभि ने रू-ब-रू कराया है।

दरअसल, राजधानी रांची का कचरा झिरी में फेंका जाता है। झिरी में कचरे का पहाड़ बन गया है। इसी कचरे के पहाड़ पर मिस झारखंड रह चुकी फैशन मॉडल सुरभि ने यहां रैंप वॉक किया और वीडियो बनाया।

मिस झारखंड रह चुकी मॉडल सुरभि ने बताया- ‘उसका रूह कांप गया था, जब मैं वहां गई। कचड़े का पहाड़। पहाड़ के चारों तरफ फेंके मृत मवेशी। दूर तक जाती बदबू और वहां से रोज गुजरती सैकड़ों गाड़ियां।’ उन्होंने बताया- ‘रांची की यह तस्वीर बदलनी चाहिए। इसी सोच के साथ प्रोजेक्ट को चुना है।’

सुरभि का कहना है कि उन्हें पहले तो कचरे पर कैटवॉक करना अटपटा लगा। लेकिन बाद में सामाजिक मुद्दे के लिए ऐसा करना स्वीकार कर लिया। इससे वह यह संदेश देना चाहती हैं कि अब बहुत हो चुका। कचरा प्रोसेसिंग के लिए रांची नगर निगम को कुछ करना पड़ेगा।

गारबेज पर फोटोशूट का यह आइडिया रांची के फोटोग्राफर प्रांजल का था। उसने बताया- ‘रांची के इस दाग को जब शूट करने का सोचा था तब यह इतना आसान नहीं था। एक तो गीला कचड़ा। ऊपर से इतनी बदबू और इसके साथ दो घंटे की शूटिंग। यह एक जंग जीतने जैसा था।’

सुरभि ने बताया- ‘शूट के बाद मेरे पैर में स्किन इंफेक्शन हो गया। डॉक्टर के पास जाना पड़ा। शूटिंग के दौरान एक-एक फीट तक पैर कचरे में धंस गए थे। इसके बाद भी शूट को पूरा किया।’

वीडियो के बाद इंटरनेशनल पहचान मिली

फोटोग्राफर प्रांजल ने बताया- ‘सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करने के बाद कई पर्यावरणविद की सराहना मिली। कई सेलेब्रिटी ने वीडियो को शेयर भी किया है। इस वीडियो शूट को इंटरनेशनल लेबल पर पहचान मिल रही है। सोच से ज्यादा लोग बदलाव के लिए आगे आ रहे हैं।’

झिरी में 15 लाख टन से अधिक कचड़ा जमा

झिरी रांची शहर का डंपिग यार्ड है। पूरे शहर का कचड़ा वहां फेंका जाता है। झिरी में एक महीने के अंदर तकरीबन 18478 टन कचरा जमा होता है। निगम यहां 150 ट्रैक्टर, 200 से अधिक छोटी गाड़ियों, 5 कापैक्टर मशीन और डंपर के जरिए कचरा डंप करता है। यह आंकड़ा साल में 1.83 लाख टन हो जाता है। 10 वर्षों में यहां 16 लाख टन से अधिक कचरा जमा हो गया है। रांची नगर निगम पिछले 5 साल से कचड़ा निस्तारन प्लांट बनाने की बात कर रहा है, लेकिन अभी तक यह नहीं बन पाया है।

कचरे के इस ढेर के कारण झिरी में रहने वाले 10 हजार से अधिक लोगों की जिंदगी नरक बन गई है। इलाके के आसपास जितने भी क्षेत्र हैं, वहां हर तरफ मच्छर का अंबार है और अन्य बीमारियां भी होती रहती हैं। इसके अलावा हर वक्त लोगों को कचरे से आने वाली दुर्गंध का सामना करना पड़ता है। इससे लोगों का घरों में रहना भी दूभर हो चुका है।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!