spot_img
spot_img

स्मार्ट स्टडी और फोकस्ड रहें तो बिना कोचिंग पास कर सकते है UPSC: IAS सोनालिका

आईएएस ऑफिसर व दिल्ली में जिला मजिस्ट्रेट सोनालिका जीवानी ने स्टूडेंट के साथ तैयारी संबंधी अपने अनुभव शेयर किए।

New Delhi: दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों से मुलाकात करने कई आईएएस और आईपीएस अधिकारी (IAS and IPS Officers) आ रहे हैं। यह अधिकारी न केवल छात्रों से मुलाकात कर रहे हैं बल्कि छात्रों को यूपीएससी एग्जाम (upsc exam) पास करने का अनुभव भी दे रहे हैं। इसी क्रम में आईएएस ऑफिसर व दिल्ली में जिला मजिस्ट्रेट सोनालिका जीवानी (sonalika jeevani) ने स्टूडेंट के साथ तैयारी संबंधी अपने अनुभव शेयर किए।

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए दिल्ली सरकार द्वारा शुरू की गई अनूठी पहल मोटिवेशनल स्पीकर सीरीज में दिल्ली सरकार यूपीएससी का सपना देखने वाले बच्चों को एक ऐसा मंच प्रदान करती है। यहां युवा आईएएस, आईपीएस अधिकारी सीधे संवाद के जरिए बच्चों के साथ पढ़ाई और तैयारी से जुड़े अपने अनुभव शेयर करते हैं।

इससे विद्यार्थियों में इन परीक्षाओं को लेकर समझ पैदा होती है तथा स्टडी प्लान बनाने में मदद मिलती है। इस श्रृंखला के पांचवे सत्र में मंगलवार को 2017 बैच की आईएएस ऑफिसर व दक्षिणी दिल्ली की जिला मजिस्ट्रेट सोनालिका जीवानी ने स्टूडेंट के साथ तैयारी संबंधी अपने अनुभव शेयर किए। सर्वोदय कन्या विद्यालय कालकाजी में आयोजित इस कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालयों के लगभग 75 बच्चों के साथ प्रत्यक्ष संवाद के अलावा इस कार्यक्रम में लगभग 13000 बच्चे यूट्यूब लाइव के माध्यम से भी जुड़े।

इस अवसर पर सोनालिका जीवानी ने कहा कि आपकी जिस क्षेत्र में रूचि है पूरी मेहनत के साथ उसे पूरा करने में जुट जाए। उन्होंने बताया कि इंजीनियरिंग के तुरंत बाद उन्हें एक अच्छी जॉब मिल गई थी लेकिन उनके मन में लोगों के लिए कुछ करने की प्रबल भावना थी इसलिए उन्होंने सिविल सर्विसेज की तैयारी शुरू कर दी।

उन्होंने बच्चों से कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ जिन्दगी में रुचियों का होना भी बेहद जरूरी है क्योंकि ये हमें सेल्फ-कंट्रोल, दूसरों का सम्मान करना, टीम वर्क करना सीखाता है और एक्सपोजर देता है।सोनालिका जीवानी ने बच्चों को यूपीएसई परीक्षा की तैयारी के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि तैयारी के दौरान हमेशा स्मार्ट स्टडी करें और फोकस्ड रहे। स्मार्ट फोन का बेहद स्मार्ट ढंग से इस्तेमाल करें ताकि वो तैयारी में आपका साथी बने न की बाधा।

उन्होंने कहा कि ये जरुरी नहीं है कि सिविल सर्विसेज की तैयारी केवल कोचिंग लेकर ही की जा सकती है। इसकी तैयारी बच्चे स्वयं भी कर सकते हैं और करते हैं। बस तैयारी के लिए सबसे जरूरी बात यह है कि आप हमेशा अनुशासन में रहे और कभी भी धैर्य न खोए क्योंकि सिविल सर्विसेज की तैयारी में समय लगता है और आपका इस दौरान मोटिवेटड रहना बेहद जरुरी है।

सोनालिका जीवानी ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि कभी भी अपनी जिन्दगी में सीमित न रहे, हमेशा बड़े सपने देखे और कभी हार न मानें। उन्होंने कहा कि जिन्दगी में आने वाली मुश्किलों से डरें न बल्कि उसे सीखने के मौके के रूप में देखकर आगे बढ़ते रहे हमेशा खुद पर आत्मविश्वास बनाए रखे। चाहे आप पढ़ाई कर रहे हो या कोई जॉब कर रहे हो हमेशा उसमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करे।

इस मौके पर शिक्षा निदेशक हिमांशु गुप्ता ने कहा कि कि तैयारी के दौरान खुद को नेगेटिव विचारों से दूर रखें ऐसे विचार आने पर आत्म विश्लेषण करे और उसके बाद दोबारा तैयारी में लग जाएं, उन्होंने कहा कि हमेशा उस क्षेत्र का चयन करें जो आपको पसंद हो फिर पूरी जर्नी आसान लगने लगती है।

शिक्षा निदेशक ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से दिल्ली सरकार का प्रयास यूपीएसई की तैयारी के मिथ्यों को दूर कर बच्चों में आत्मविश्वास जगाना है। उन्होंने साझा किया कि साझा किया कि दिल्ली सरकार ने भविष्य में इस तरह के और कार्यक्रमों की योजना बनाई है। जिससे दिल्ली के बच्चों को अपने सपनों को पूरा करने की दिशा में मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!