spot_img

‘मन की बात’ से हुई 30.80 करोड़ की कमाई

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' (Mann Ki Baat) ने 2014 में शुरू होने के बाद से राजस्व के रूप में 30.80 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई की है, जिसमें 2017-18 में सबसे अधिक 10.64 करोड़ रुपये की कमाई हुई है।

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) ने 2014 में शुरू होने के बाद से राजस्व के रूप में 30.80 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई की है, जिसमें 2017-18 में सबसे अधिक 10.64 करोड़ रुपये की कमाई हुई है।

वहीं दर्शकों की संख्या के अनुसार 2018 से 2020 की अवधि के दौरान कार्यक्रम की पहुंच लगभग 6 करोड़ से 14.35 करोड़ लोगों तक रही। हालांकि सरकार ने स्पष्ट किया है कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य दिन-प्रतिदिन शासन के मुद्दों पर नागरिकों के साथ संवाद स्थापित करना है।

सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने राज्य सभा में प्रसार भारती के हवाले से लिखित जवाब में बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा ‘मन की बात’ कार्यक्रम का प्रसारण विभिन्न आकाशवाणी और दूरदर्शन के चैनलों पर महीने के अंतिम रविवार को सुबह 11 बजे किया जाता है। प्रसार भारती ने अपने आकाशवाणी और दूरदर्शन नेटवर्क और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी आज की तारीख तक ‘मन की बात’ कार्यक्रम के 78 एपिसोड का प्रसारण किया है। यह कार्यक्रम विभिन्न भाषाओं और उसके बाद बोलियों में भी प्रसारित किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि प्रसार भारती अपने आकाशवाणी नेटवर्क पर 23 भाषाओं और 29 बोलियों में इस कार्यक्रम का प्रसारण करता है। इसके अलावा, प्रसार भारती अपने विभिन्न दूरदर्शन चैनलों पर हिंदी और अन्य भाषाओं में इस कार्यक्रम के दृश्य संस्करण का भी प्रसारण करता है।

मंत्री ने बताया कि आकाशवाणी और दूरदर्शन के चैनलों पर कार्यक्रम की उपलब्धता के परंपरागत तरीके के अलावा, यह कार्यक्रम देशभर में केबल और डीटीएच प्लेटफॉर्मो पर लगभग 91 प्राइवेट सैटलाइट टीवी चैनलों द्वारा भी प्रसारित किया जा रहा है। यह कार्यक्रम “एण्ड्रायड” और “आईओएस मोबाइल प्रयोक्ताओं के लिए “न्यूज ऑनएयर” एप्लीकेशन के माध्यम से और प्रसार भारती के विभिन्न यूट्यूब चैनलों पर श्रोताओं व दर्शकों को भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि प्रसार भारती बिना किसी अतिरिक्त व्यय के मौजूदा इनहाउस संसाधनों का उपयोग करके ‘मन की बात का निर्माण करता है। निर्माण के लिए इनहाउस कर्मचारियों और भाषा संस्करणों के लिए नियत कार्य के आधार पर नियुक्त मौजूदा अनुवादकों का उपयोग किया जाता है।

ठाकुर ने बताया कि भारत के सर्वाधिक लोकप्रिय टीवी पर रेडियो कार्यक्रम के रूप में, मन की बात के पर्याप्त दर्शक अनुगामी है। टेलीविजन चैनलों के प्रसारण दर्शक अनुसंधान परिषद (बार्क) द्वारा मापे गए दर्शकों की संख्या के अनुसार 2018 से 2020 की अवधि के दौरान, कार्यक्रम के दर्शकों की संख्या की संचयी पहुंच लगभग 6 करोड़ से 14.35 करोड़ तक अनुमानित है।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के ‘मन की बात’ कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य रेडियो के जरिए देशभर की जनता तक पहुंचना है। यह कार्यक्रम प्रत्येक नागरिक को प्रधानमंत्री के रेडियो संबोधन के जरिए जुड़ने, सुझाव देने और सहभागी शासन का हिस्सा बनने का अवसर प्रदान करता है।

मन की बात कार्यक्रम से 2014 से अब तक सात वित्तीय वर्षों में कुल 30,80,91,225 रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। वित्तीय वर्ष 2014-15 में 1,16,00,000 रुपये राजस्व, 2015-16 में 2,81,00,000 रुपये राजस्व, 2016-17 में 5,14.63.925 रुपये राजस्व, 2017-18 में 10.64,27,300 रुपये, 2018-19 में 7,47,00,000, 2019-20 में 2.56.00,000, 2020-21 में 1,02,00,000 रुपये राजस्व अर्जित किया।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!