spot_img
spot_img

बेगूसराय में पांच हजार से अधिक लोग करेंगे प्रकृति वंदन, वैदिक मंत्रोच्चार से होगी पूजा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) लोगों को ना सिर्फ राष्ट्र उत्थान का कार्य करने के लिए प्रेरित करता है, बल्कि देश समाज प्रकृति और धरती के उत्थान के लिए भी लगातार विभिन्न प्रकल्प चलाए जाते हैं।

बेगूसराय: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) लोगों को ना सिर्फ राष्ट्र उत्थान का कार्य करने के लिए प्रेरित करता है, बल्कि देश समाज प्रकृति और धरती के उत्थान के लिए भी लगातार विभिन्न प्रकल्प चलाए जाते हैं।

इसी कड़ी में 29 अगस्त को प्रकृति वंदन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें विचार परिवार से जुड़े तमाम कार्यकर्ता अलग-अलग तरीके से प्रकृति की पूजा करेंगे। सुबह 10 से 11 बजे तक आरएसएस तथा हिंदू आध्यात्मिक एवं सेवा फाउंडेशन द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ता एक ओर जहां पर्यावरण की रक्षा एवं पौधों को बचाने का संकल्प लेंगे, वहीं भूमि को रासायनिक तत्वों से बचाकर बंजर होने से बचाने का भी संकल्प लेंगे।

बेगूसराय में पांच हजार से अधिक से अधिक लोग शामिल होंगे। इसके लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया चल रही है, अभियान के लिए टीम बना लिया गया है तथा दायित्ववान कार्यकर्ता कार्यक्रम की सफलता में लगे हुए हैं। प्रकृति वंदन कार्यक्रम का फेसबुक समेत अन्य सोशल मीडिया पर सुबह 10 से 11 बजे तक लाइव किया जाएगा। मुख्य कार्य कार्यक्रम जिला मुख्यालय के रतनपुर विष्णुपुर पोखर के समीप आयोजित किया जाएगा। जहां की वैदिक मंत्रोचार के साथ पौधा, गाय और भूमि का पूजन किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए शनिवार को कार्यक्रम के सह संयोजक रणधीर कुमार ने बताया कि विगत वर्ष प्रकृति वंदन कार्यक्रम में बेगूसराय जिला उत्तर बिहार में सर्वश्रेष्ठ स्थान पर रहा। इस वर्ष भी अधिक से अधिक लोगों को कार्यक्रम से जोड़ने के लिए प्रेरित किया जा रहा है, पांच हजार से अधिक लोग 29 अगस्त को प्रकृति का वंदन-पूजन करेंगे।

कार्यक्रम को लेकर अंजनी कुमार को विभाग संयोजक, अभिनव कुमार एवं रणधीर कुमार को सह संयोजक बनाया गया है। मुख्य कार्यक्रम प्रभारी वेद प्रकाश, पंजीयन की जिम्मेवारी अमित, प्रबुद्ध जन की जिम्मेवारी दीपक, सोशल मीडिया की जिम्मेवारी विक्रांत को दी गई है। रतनपुर पोखर के समीप वैदिक मंत्रोचार के साथ प्रकृति वंदन के बाद अयोध्या ज्ञान भारती उच्च विद्यालय में बच्चों द्वारा प्रकृति पूजन किया जाएगा। इसके अलावा हजारों कार्यकर्ता अपने-अपने घरों में तथा आसपास के जगह पर प्रकृति का वंदन करेंगे। रणधीर कुमार ने बताया कि इस कार्यक्रम के साथ ही 29 अगस्त को संघ की अनुषंगी खेल इकाई क्रीड़ा भारती द्वारा खेल दिवस के अवसर पर जिला भर में 15 से अधिक जगहों पर मेजर ध्यानचंद जी का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। इस दौरान विभिन्न खेल से जुड़े 15 कोच को सम्मानित किया जाएगा। इसके बाद 29 अगस्त से 11 सितंबर तक खेल पखवाड़ा आयोजित किया जाएगा। खेल दिवस से चेतना दिवस तक चलने वाले इस कार्यक्रम के तहत वॉलीबॉल, कबड्डी एवं हैंडबॉल मैच समेत खेल से जुड़ी अन्य गतिविधियां आयोजित की जाएगी, इसके लिए क्रीड़ा भारती लगातार तैयारी में जुटा हुआ है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!