spot_img

LJP कोटा के मंत्री नहीं हैं निष्कासित MP पशुपति कुमार पारस: चिराग पासवान

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने अपने चाचा के साथ-साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर भी हमला तेज कर दिया है।

बेगूसराय: लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने अपने चाचा के साथ-साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर भी हमला तेज कर दिया है।

बेगूसराय में राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद तीसरे दिन की आशीर्वाद यात्रा शुरू करने वाले चिराग पासवान ने पत्रकारों से बात करते हुए गुरुवार को कहा कि हमें तो अपनों ने धोखा दिया है। आदर्श पर चलने की बात करने वाले चाचा पशुपति कुमार पारस ने हमारे स्वर्गीय पिता रामविलास पासवान की पीठ में खंजर भोंक दिया है।

बेगूसराय सर्किट हाउस में आयोजित प्रेस वर्ता में चिराग पासवान ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुझे नीचा दिखाने के लिए अपने नेताओंं की बली दे दी। लोजपा को तोड़ने की रणनीति तैयार करने वाले लोग मुंह ताकते रह गए। नीतीश कुमार ने ललन सिंह को धोखा दिया, उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया। मुख्यमंत्री को जातिवादी सोच से ऊपर उठने की जरूरत है, वह जात-पात छोड़कर सब की बात करते। नीतीश कुमार ने अपने चहेते को केंद्र में मंत्री बना दिया। लेकिन इसी से बिहार सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है, जल्द ही मध्यावधि चुनाव होगा। कई विधायक असंतुष्ट हैं और पलटू राम नीतीश कुमार को जब धक्का लगेगा तो पता चल जाएगा।

उन्होंने कहा कि अभी आशीर्वाद यात्रा पर पूरे बिहार का भ्रमण कर रहे हैं, लोजपा को अपार जनसमर्थन मिल रहा है। 95 प्रतिशत लोजपा नेता और कार्यकर्ता हमारे साथ हैं, राष्ट्रीय कार्यसमिति के 75 में से 66 सदस्यों ने शपथ पत्र के साथ मेरे साथ रहने की बात कही है। हम लोगों से आशीर्वाद समर्थन ले रहे हैं, आने वाले समय में और मजबूत होंगे। चाचा ने जो किया वह दुर्भाग्यपूर्ण है, लोग कहते हैं कि पशुपति पारस रामविलास पासवान के आदर्श पर चलता है, लेकिन वह गलत है। पापा कभी भी नीतीश कुमार के कार्य से संतुष्ट नहीं थे, वे नीतीश कुमार के साथ कभी नहीं रहना चाहते थे। लेकिन केंद्र में गठबंधन हो जाने के कारण मजबूरी में लोकसभा का चुनाव साथ लड़ना पड़ा था। हम कभी भेदभाव नहीं रखते थे, लेकिन नीतीश कुमार ने एमएलए और एमपी को तोड़ने के बाद अब परिवार को तोड़ दिया। हमने दिल्ली उच्च न्यायालय और लोकसभा अध्यक्ष के पास आवेदन दिया है। आशीर्वाद यात्रा अपने पिता की कर्मभूमि हाजीपुर से शुरू किया और पूरे बिहार जाएंगे। अगले चरण में पापा के पुण्यतिथि पर आठ अक्टूबर से पूरे बिहार की पदयात्रा शुरू होगी।

प्रेस वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी, पार्लियामेंट्री बोर्ड के अध्यक्ष हुलास पांडेय, जिलाध्यक्ष प्रेम पासवान, संजय पासवान, सुरेंद्र विवेक एवं इंदिरा देवी समेत जिला और प्रदेश स्तर के सभी प्रमुख नेता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!