spot_img

चीन में कड़े लॉकडाउन से कई शहरों में भोजन की कमी, सोशल मीडिया पर फूट रहा लोगों का गुस्सा

चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए सरकार की सख्ती और कड़े लॉकडाउन का खामियाजा लोगों को भारी पड़ने लगा है।

Beijing: चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए सरकार की सख्ती और कड़े लॉकडाउन का खामियाजा लोगों को भारी पड़ने लगा है। इस सख्ती के कारण कई शहरों में लाखों लोगों को भोजन समेत आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ रहा है।

एक रिपोर्ट के अनुसार कोरोना महामारी के दो सालों में चीन सरकार लोगों को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने में नाकामयाब रही है। पिछले साल दिसंबर से शीआन शहर में बढ़ते मामलों के चलते लॉकडाउन लगाने के कारण 13 मिलियन लोगों को भोजन समेत दूसरी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके बाद लोगों का गुस्सा सोशल मीडिया पर देखने को मिला है।

शीआन शहर में कई लोगों ने बताया कि वे एक दिन में एक कटोरी दलिया खाकर भुखमरी के कगार पर थे। सोशल मीडिया पर लोगों ने दावा किया कि भोजन की कमी होने के बाद भी लोगों को घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी जा रही है। एक यूजर ने वीबो प्लेटफार्म पर लिखा कि हम कैसे रहें, हम क्या खाएं, कुछ दिन पहले हमे किराने का सामान खरीदने के लिए एक बार बाहर जाने की अनुमति थी, लेकिन अब इसे भी रद्द कर दिया गया है।

सभी ऑनलाइन ग्रासरी ऐप पहले से बुक हैं या डिलीवर नहीं कर रहे हैं। इसके साथ ही 2020 में कोरोना महामारी का केंद्र माने जाने वाले एक अन्य चीन शहर वुहान को भी इसी तरह के लॉकडाउन के तहत रखा गया था। कई महीनों के लिए लगभग 11 मिलियन लोग प्रतिबंधित और अपने घरों में कैद थे। वुहान के बाद 13 मिलियन लोगों के शहर शीआन का लाकडाउन चीन का अब तक का सबसे बड़ा लॉकडाउन है। सोशल मीडिया पर एक यूजर ने लिखा कि कोविड-19 के अलावा आप किस भी चीज से मरे किसी को परवाह नहीं है।

हेनान के गुशी प्रांत में केवल एक एसिंप्टोमेटिक और एक सिंप्टोमेटिक मामले सामने आने के बाद लगभग 1 मिलियन लोगों के घर से और शहर से बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। ज़ुचांग में भी इसी तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं, जहां युझोउ शहर के 10 लाख निवासी लॉकडाउन में हैं। आन्यांग शहर में 58 कोरोना के मामले सामने आने के बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया जबकि तियानजिन में कोरोना के 21 मामले सामने आने के बाद 14 मिलियन लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई।

इस बीच 8 जनवरी 2022 को शीआन शहर के लोगों के एक आश्चर्यचकित घटना में सरकार की ओर से महामारी की रोकथाम के लिए नियमों के अनुसार हेमा फ्रेश फूड डिलीवरी ऐप ने आनलाइन खरीददारी पर रोक लगा दी। अलीबाबा समूह की हेमा जियानशेंग ऐप शीआन शहर के कई जिलों में भोजन पहुंचाने वाली कुछ किराने की दुकानों में से एक थी।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!