spot_img
spot_img

UP Election: Congress ने सामूहिक हत्याकांड के सजायाफ्ता की पत्नी को हमीरपुर सदर सीट से उम्मीदवार बनाया, कार्यकर्ता सकते में।

हमीरपुर में विधानसभा चुनाव में दांव लगाने के लिए अब कांग्रेस के पास कोई बड़ा नेता नहीं रहा इसीलिए पार्टी ने सामूहिक हत्याकांड के सजायाफ्ता व पूर्व सांसद अशोक सिंह चंदेल की पत्नी को सदर सीट से उम्मीदवार घोषित किया है।

Hamirpur: हमीरपुर में विधानसभा चुनाव में दांव लगाने के लिए अब कांग्रेस के पास कोई बड़ा नेता नहीं रहा इसीलिए पार्टी ने सामूहिक हत्याकांड के सजायाफ्ता व पूर्व सांसद अशोक सिंह चंदेल की पत्नी को सदर सीट से उम्मीदवार घोषित किया है। इसके साथ ही जिले की राठ विधानसभा की सुरक्षित सीट के लिए भी नए चेहरे पर कांग्रेस ने दांव लगाया है।

हमीरपुर विधानसभा सदर सीट से कई बार विधायक रहे अशोक सिंह चंदेल पिछले करीब पौने तीन सालों से सामूहिक हत्याकांड के मामले में उम्रकैद की सजा आगरा जेल में काट रहे हैं। ये एक बार बीएसपी से सांसद भी चुने गए थे। जेल की सलाखों में जाने के बाद अब उनकी पत्नी राजकुमारी चंदेल ने सियासी पारी खेलने के लिए पिछले दिनों कांग्रेस का दामन थामा और रविवार को कांग्रेस ने उन्हें सदर सीट से चुनाव लडऩे के लिए उम्मीदवार भी घोषित कर दिया है।

बताते हैं कि इससे पहले यह सपा और निषाद पार्टी में एन्ट्री लेने के लिए उठापटक की थी मगर उन्हें निराशा मिली थी। आखिर में कांग्रेस पार्टी ज्वाॅइन कर अब हमीरपुर सदर विधानसभा की सीट से चुनाव लड़ने के लिए पूर्व सांसद की पत्नी राजकुमारी चंदेल चुनाव मैदान में आ गई है। जिले के राठ विधानसभा की सुरक्षित सीट से भी कमलेश कुमार श्रीवास कांग्रेस से प्रत्याशी घोषित हुए हैं।

पूर्व सांसद की पत्नी ने सदर विधानसभा क्षेत्र में डेरा डाला

शुरू में सामूहिक हत्याकांड के सजायाफ्ता व पूर्व सांसद अशोक सिंह चंदेल की पत्नी राजकुमारी चंदेल ने पिछले माह हमीरपुर सदर सीट से चुनाव लड़ने का फैसला किया था। हर दल के चक्कर लगाने के बाद उन्होंने निर्दलीय रूप से सियासी पारी खेलने का एलान किया था। इसके लिए कानपुर से हमीरपुर आकर यहां रोड शो भी किया था। और तो और विधानसभा क्षेत्र के तमाम गांवों में राजकुमारी चंदेल ने नुक्कड़ सभाएं कर समर्थन भी मांगा था। आज कांग्रेस से टिकट उन्हें मिलने से यहां हमीरपुर संगठन में हलचल मच गई है।

कांग्रेस के फैसले से पार्टी के पदाधिकारी भी सकते में

पूर्व सांसद एवं सामूहिक हत्याकांड के सजायाफ्ता की पत्नी को कांग्रेस से टिकट मिलने से यहां पार्टी के पदाधिकारी सकते में है। पार्टी के जमीनी कार्यकर्ता बृजेश बादल ने सोशल मीडिया में आज एक पोस्ट किया है। हमीरपुर समेत कई विधानसभा क्षेत्रों के टिकटों पर मोलभाव हो रहा है। इससे बुन्देलखंड से कांग्रेस पार्टी का जो थोड़ा बहुत संगठन है, वह भी पूरी तरह से खत्म हो जाएगा और ये कांग्रेस की सेहत के लिए अच्छा नहीं होगा। यह पोस्ट प्रियंका गांधी समेत पार्टी के बड़े पदाधिकारियों को भेजी गई है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!