spot_img

साले की पत्नी से मज़ाक करना बहनोई को पड़ा भारी,जूतों की माला पहना कर गांव में घुमाया

Deoghar Airport का रन-वे बेहतर: DGCA


बिहार

बिहार के मधुबनी में मज़ाक करना पड़ा भरी। रिश्ते-नातों में हंसी-मजाक और चुहलबाजी अच्छी है, पर इसकी भी एक सोशल डिस्टेंसिंग है। भारतीय संस्कृति में साली और सलेज से हंसी-ठिठोली करना आम बात है, किन्तु यदि यह लक्ष्मण रेखा पार कर जाए तो बात इस हद तक बिगड़ सकती है कि पिटने की नौबत भी आ सकती है।

दरअसल, कुछ ऐसा ही हुआ मधुबनी के बाबू बरही थाना इलाके के बसहा गांव में। जहां, साले की पत्नी से मजाक करना कुछ लोगों को रास नहीं आया, हालत यह हो गई कि सिर्फ मारपीट तक ही बात नहीं रही बल्कि मजाक करने वाले बहनोई को जूते की माला पहना कर गांव में घुमाया गया। अब हालत तो उन लोगों की खराब है जिन्होंने सलेज और बहनोई की दिल्लगी में टांग अड़ा दी। पुलिस ने उन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करके गिरफ्तारी के प्रयास शुरु कर दिए हैं।

बाबू बरही थाना क्षेत्र के बसहा गांव निवासी मो. शरीफ हैदराबाद में रहता है। उसका बहनोई मोहम्मद अब्दुल्ला गांव आया था। दरअसल हुआ कुछ ऐसा कि अब्दुल्ला अपनी सलेज भूली खातून के साथ हंसी-मजाक कर रहा था। अब ये बात आस-पड़ोसियों को नागवार गुजरी। फिर क्या, इस मुद्दे को लेकर ग्रामीण स्तर पर पंचायत बैठ गई। वहीं, पंचायत में अब्दुल्ला को डेढ़ लाख रुपये जुर्माना व जूते का माला पहना कर गांव में जुलूस निकालने का फरमान जारी हुआ। और तो और रात में भी जमे महफिल में इन्हें जूता का माला पहनाते घुमाया गया।

इधर, अब्दुल्ला के ममेरे भाई और उनके पक्ष के अन्य लोगों ने जब इस कार्रवाई का विरोध किया तो नौबत मारपीट तक आ पहुंची। मारपीट में कई लोग घायल हो गए। जिनका उपचार बाबू बरही सीएचसी में चल रहा है। इस मामले में मो० रसूल ने गांव के अवसर उर्फ मुसहरू, फैजूल, अनिस, अताउर समेत नौ लोगों के विरुद्ध मारपीट करने का आरोप लगाते हुए थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!