spot_img

बंगाल में लो प्रेशर सिस्टम बनने से झारखंड में मानसून एक्टिव 

त्रिदेव


झारखण्ड। 

मौसम विभाग ने झारखण्ड में रविवार की सुबह से कई तात्कालिक चेतावनी जारी की है, जिसमें अलग-अलग जिलों में अलग-अलग समय पर वर्षा होने की संभावना जतायी गयी है. बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर सिस्टम बनने की वजह से झारखंड में मानसून सक्रिय हो गया है. इसकी वजह से कई जिलों में बारिश हो रही है. राजधानी रांची समेत कई जिलों में हल्के से मध्यम दर्जे की वर्षा हुई है. 

मौसम विभाग ने कहा है कि कुछ जगहों पर हल्के से मध्यम दर्जे की वर्षा होगी. इस दौरान मेघ गर्जन के साथ कुछ जगहों पर वज्रपात भी हो सकते हैं. इसलिए किसानों को खेत में नहीं जाने की सलाह दी गयी है. लोगों को बहुत जरूरी नहीं होने पर घर से बाहर नहीं जाने, वर्षा और मेघ गर्जन के दौरान पेड़ के नीचे नहीं छिपने की सलाह भी दी गयी है. कहा गया है कि यदि कहीं बारिश में घिर जायें, तो सुरक्षित जगह शरण ले लें.

मौसम विभाग ने रांची, खूंटी, गुमला, लोहरदगा, पलामू, गढ़वा, लातेहार, सिमडेगा, सरायकेला-खरसावां, पश्चिमी सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम, गिरिडीह तथा देवघर में वर्षा की प्रबल संभावना है. अलग-अलग जिलों में अलग-अलग समय पर रुक- रुककर बारिश हो रही है. झारखंड के कई जिलों में हल्के मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गयी है.

मौसम विभाग ने कहा है कि बंगाल की खाड़ी में 13 अगस्त से ही लो प्रेशर सिस्टम बना हुआ है, जो बंगाल, झारखंड से होते हुए छत्तीसगढ़ की ओर बढ़ रहा है. इसका असर झारखंड में 17 अगस्त तक देखने को मिलेगा. 18 अगस्त यानी मंगलवार से मौसम सामान्य होने की उम्मीद है. 19 अगस्त को एक बार फिर लो प्रेशर सिस्टम बनता दिख रहा है.

बीकानेर

मौसम विभाग ने रविवार को जो चेतावनी जारी की है, उसमें कहा गया है कि 16-17 अगस्त को झारखंड के पश्चिमी तथा मध्य भागों यानी रांची, बोकारो, गुमला, हजारीबाग, खूंटी, रामगढ़, पलामू, गढ़वा, चतरा, कोडरमा, लातेहार तथा लोहरदगा में एक-दो जगहों पर भारी वर्षा हो सकती है. 18 अगस्त को मौसम सामान्य रहेगा, लेकिन 19-20 अगस्त को मानसून फिर सक्रिय होगा और पश्चिमी, दक्षिणी तथा मध्य भागों में एक-दो जगहों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है.


नमन

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!