spot_img
spot_img

बाबा मंदिर से निकलने वाले नीर की होगी ब्रांडिंग, बाबा पर अर्पित जल मानसरोवर में होगा जमा

देवघर उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री द्वारा सोमवार की सुबह बाबा बैद्यनाथ मंदिर पहुँचकर सुरक्षा व्यवस्था व विधि-व्यवस्था का जायजा लिया गया।

Deoghar: देवघर उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री द्वारा सोमवार की सुबह बाबा बैद्यनाथ मंदिर पहुँचकर सुरक्षा व्यवस्था व विधि-व्यवस्था का जायजा लिया गया। इस दौरान उपायुक्त ने बाबा मंदिर के आसपास के क्षेत्रों में साफ-सफाई व कचड़ा उठाव को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया।

नीर की होगी ब्रांडिंग

निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने बाबा मंदिर से निकलने वाले नीर को फिल्ट्रेशन कर इसका उपयोग करने को लेकर किये जाने वाले कार्यों पर विस्तृत चर्चा करते हुए नीर की पैकिंग और श्रद्धालुओं को सुगमतापूर्वक उपलब्ध कराने जैसे विभिन्न विषयों को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया। साथ ही बाबा बैद्यनाथ मंदिर से निकलने वाले नीर को आधुनिकतम तकनीक से स्वच्छ कर मानसरोवर में जमा करने व नीर को रिसाइकिल कर इसकी ब्रांडिंग करने को लेकर उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।

उपायुक्त ने बाबा मंदिर से निकलने वाले फूल-बेलपत्र से अगरबत्ती और धूप बनाने की प्रक्रिया से महिलाओं व स्थानीय लोगों को जोड़ने का निर्देश दिया, ताकि लोगों को आत्मनिर्भर बनाते हुए रोजगार के अवसर भी प्रदान किया जा सके।

बाबा पर जलाभिषेक के दौरान बहने वाले नीर को किया जायेगा रिसाईकल

निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने मंदिर से निकलने वाले नीर को बर्बाद होने से बचाने के उद्देश्य से आधुनिकतम तकनीक से स्वच्छ कर मानसरोवर में जमा करने और रिसाइकिल कर इसकी ब्रांडिंग को लेकर संबंधित अधिकारियों कई आवश्यक दिशा-निर्देश दिया, ताकि बाबा मंदिर सहित 22 मंदिर से हर दिन हजारों लीटर निकलने वाला नीर नाले में बहकर बर्बाद न हो और पवित्र नीर के नाले में बहने से भक्तों की आस्था को ठेस न पहुंचे, इसी उद्देश्य से यह व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। 

मंदिर व आसपास के क्षेत्रों को थर्माकोल मुक्त बनाने में सभी से सहयोग की अपील

इस दौरान मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने मंदिर के आसपास के क्षेत्रों को थर्माेकोल और प्लास्टिक मुक्त बनाने का आग्रह सभी से किया, ताकि सही मायने में बाबा मंदिर और आसपास के क्षेत्रों को स्वच्छ और सुंदर बनाया जा सके।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!