spot_img

BDO का पदस्थापन आचार संहिता का उलंघन, आदेश रद्द करे चुनाव आयोग : दीपक प्रकाश

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश के निर्देशानुसार पार्टी का चार सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल प्रदेश महामंत्री बालमुकुंद सहाय के नेतृत्व में रविवार को राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राधेश्याम प्रसाद से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा।

Ranchi: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश के निर्देशानुसार पार्टी का चार सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल प्रदेश महामंत्री बालमुकुंद सहाय के नेतृत्व में रविवार को राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राधेश्याम प्रसाद से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा।

भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने मांग पत्र सौंपते हुए कहा कि झारखंड में पंचायत चुनाव की घोषणा नौ अप्रैल 2022 को हो चुकी है और तत्काल प्रभाव से आदर्श आचार संहिता लागू है। 15 अप्रैल 2022 को (प्रथम चरण के नामांकन से एक दिन पहले) झारखंड सरकार ने 32 प्रखंड विकास पदाधिकारी (BDO) का तबादला कर दिया। बीडीओ का तबादला राज्य सरकार का विशेषाधिकार है। लेकिन चुनाव प्रक्रिया के बीच इतनी बड़ी संख्या में बीडीओ का तबादला करना न सिर्फ आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है बल्कि राज्य में मतदाताओं के बीच विशेष उम्मीदवारों को जीताने के लिए किया गया प्रयास है।

चुनाव प्रक्रिया के दौरान सरकार द्वारा किए गए इस थोक भाव के तबादले से राज्य निर्वाचन आयोग की छवि धूमिल होने के साथ-साथ निर्वाचन आयोग का दुरुपयोग भी हुआ है। आज इन सारे सवालों का जवाब झारखंड की जनता खोज रही है। निर्वाचन आयोग को मोहरा बनाकर सरकार द्वारा थोक भाव में उपरोक्त तबादला किया गया है। प्रतिनिधिमंडल ने पदाधिकारियों के पदस्थापन को रद्द करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश मीडिया सह प्रभारी योगेन्द्र प्रताप सिंह, प्रदेश मीडिया सह प्रभारी अशोक बड़ाईक, प्रदेश लीगल सेल संयोजक अधिवक्ता सुधीर श्रीवास्तव शामिल थे।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!