spot_img
spot_img

खुलकर सामने आया JMM का अंदरूनी कलह, लोविंन ने कहा- ‘मौकापरस्त’ हैं स्टीफन

सूबे में 1932 के खतियान आधारित स्थानीय नीति को लेकर जारी संग्राम के बीच सत्तारूढ़ दल JMM में भी दरार साफ नजर आने लगी है।

Ranchi/Sahibganj: सूबे में 1932 के खतियान आधारित स्थानीय नीति को लेकर जारी संग्राम के बीच सत्तारूढ़ दल JMM में भी दरार साफ नजर आने लगी है। शुक्रवार को पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन की बड़ी बहू और विधायक सीता सोरेन के राज्यपाल से मुलाकात के बाद सूबे के सियासी तापमान अचानक बढ़ गया नतीजा यह हुआ कि, इस मुद्दे को लेकर पार्टी के ही कद्दावर नेता स्टीफन मरांडी ने रांची में प्रेसवार्ता बुलाकर मुख्यमंत्री की भाभी सीता सोरेन और साहेबगंज के बोरियों से विधायक लोविंन हेम्ब्रम पर पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल होने का गंभीर आरोप लगाकर सियासी हलचल तेज कर दी। इधर शुक्रवार के रोज सीता सोरेन ने खुद पर लगाए आरोप को खारिज करते हुए स्टीफन मरांडी को ही कठघडे में खड़ा कर दिया तो, लोविंन हेम्ब्रम ने रविवार को बोरियों में 1932 के खतियान आधारित स्थानीय नीति के समर्थन में जनसभा आयोजित कर स्टीफन मरांडी पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान लोविंन हेम्ब्रम ने स्टीफन मरांडी को पार्टी विरोधी और मौका परस्त करार देते हुए कहा कि, जो लोग उनपर पार्टी में फूट डालने का आरोप लगा रहे हैं वह इतने ही ईमानदार थे तो, पार्टी छोड़कर क्यों चले गए थे?. आपको बता दें कि, लोविंन हेम्ब्रम की सभा मे उमड़ी भीड़ के हाथों में न सिर्फ सीएम की नीति विरोधी तख्तियां थी बल्कि, मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी भी की गई।

नसीहत न दें ‘मौकापरस्त’ स्टीफन

 लोविंनहेम्ब्रम द्वारा जन आक्रोश महासभा के आयोजन को लेकर पार्टी के अंदर ही हलचल तेज हो गई है, पार्टी के वरिष्ठ विधायक स्टीफन मरांडी ने लोबिन हेंब्रम पर   पार्टी के  विरुद्ध  कार्य करने का आरोप लगाया है उसी को लेकर आज लोविन हेम्ब्रम ने पलटवार किया वही लोविन हेम्ब्रम ने कहा कि जो स्टीफन मरांडी पार्टी की हित की बात करते हैं वह उस समय कहां थे जो कांग्रेस में चले गए।  *सीएम पर साधा निशाना कहा-चुनाव पार्टी नहीं जनता लडती है।* 
  वही लोविन हेम्ब्रम ने हेमंत सोरेन पर भी सवाल उठाया कि जब हेमंत सोरेन ने बीजेपी से मिल कर सरकार बनाई थी तब हमने विरोध किया था बीजेपी से सरकार बनाने पर वही लोविन हेम्ब्रेम ने सरकार को अस्थिर करने के सवाल पर  सीधे तौर पर खारिज किया उन्होंने कहा कि सरकार को आस्थिर करने का जो आरोप लगाया जा रहा है वह बेबुनियाद है वहीं,  पार्टी की कार्रवाई करने के नाम पर विधायक लोबिन हेंब्रम ने कहा आखिर पार्टी हमारे पर क्या कार्रवाई करेगी यही ना करेगी कि हमको विधानसभा में टिकट नहीं देगी अगर टिकट नहीं मिली हम चुनाव नहीं लड़ते जनता चुनाव लड़ती है

JMM के भीतर की गुटबाजी आई सामने

गौरतलब है कि, बीते दिनों सीएम की बड़ी भाभी और पार्टी विधयक सीता सोरने खुद पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने और पार्टी तोड़ने के आरोप का जवाब देते हुए कहा था की, उन्होंने राज्य में व्याप्त करप्शन समेत अन्य मुद्दों को लेकर गवर्नर से मुलाकात की थी लेकिन, स्टीफन मरांडी लगातार दुष्प्रचार करते चले आ रहे हैं बहरहाल, लगातार पार्टी के भीतर ही एक दूसरे के खिलाफ हो रही बयानबाजी ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के भीतर चल रही अंदरूनी कलह को तो सतह ला ही दिया है साथ ही, गुटबाजी भी खुलकर सामने आ गई ही।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!