spot_img
spot_img

Sahibganj Boat Accident: संसद में MP निशिकांत ने की Jharkhand सरकार को बर्खास्त करने और हादसे की CBI जांच की मांग

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार को बर्खास्त करने की मांग की और कहा कि सीएम खुद रोजगार कर रहे हैं जो संविधान के खिलाफ है।

New Delhi: अंतरराज्यीय फेरी सेवा घाट साहिबगंज और मनिहारी के बीच चलने वाला मालवाहक जहाज गुरुवार की रात लगभग दो बजे गंगा नदी में डूब गया। जिसपर दर्जन भर से ज्यादा ट्रक ले जाया जा रहा था। जिसके ड्राइवर खलासी भी जहाज पर ही थे। हादसे के बाद बीजेपी झारखंड की हेमंत सरकार के कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रही है। गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे (Godda MP Nishikant Dubey) ने इस मुद्दे को लेकर संसद में हेमंत सरकार पर जोरदार हमला बोला।

गोड्डा लोकसभा से बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने शुक्रवार को संसद में कहा कि साहिबगंज की गंगा नदी में 18 ट्रकों के डूबने की खबर आई है। उन्होंने कहा कि जहाज में 18 ट्रक डूब गए, जिसमें लगभग 100 लोग मर गए। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Jharkhand Chief Minister Hemant Soren) की सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए निशिकांत दुबे ने कहा, साहिबगंज में गैरकानूनी तरीके से जहाज चलाए जा रहे हैं।

CM पार्टनर, PA कर रहे दलाली: निशिकांत

उन्होंने कहा कि नियम ऐसा है कि सूर्यास्त के बाद और सूर्योदय के पहले जहाजों (ships) को नहीं चलाया जाएगा, लेकिन सीएम संचालक कंपनी में पार्टनर हैं। उनके निजी सचिव दलाली कर रहे हैं। निशिकांत दुबे ने सरकार पर संरक्षण देने का आरोप लगाया और कहा कि वहां गिट्टी और बालू का अवैध कारोबार हो रहा है। लोगों की हत्याएं हो रही हैं।

हेमंत सोरेन सरकार को बर्खास्त करने की मांग

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार को बर्खास्त करने की मांग की और कहा कि सीएम खुद रोजगार कर रहे हैं जो संविधान के खिलाफ है। उन्होंने लोगों की मौत के मामले में सीबीआई जांच कराने की मांग (sahibganj accidemt cbi probe) भी की।

गुरुवार रात हुआ हादसा

गौरतलब है कि अंतरराज्यीय फेरी सेवा घाट साहिबगंज और मनिहारी के बीच चलने वाला मालवाहक जहाज डूब गया है। गुरुवार की रात लगभग दो बजे यह हादसा हुआ है। जहाज के गंगा में पलट जाने से आधा दर्जन से अधिक पत्थर और चिप्स लदा हाईवा गंगा में डूब गये हैं। आशंका जताई जा रही है कि वाहनों पर सवार ड्राइवर और खलासी भी डूब गए हैं। प्रशासन की ओर से मृतकों की संख्या के संबंध में कोई आधिकारिक आंकड़ा जारी नहीं किया गया है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!