Global Statistics

All countries
343,114,432
Confirmed
Updated on Friday, 21 January 2022, 9:29:09 am IST 9:29 am
All countries
274,159,558
Recovered
Updated on Friday, 21 January 2022, 9:29:09 am IST 9:29 am
All countries
5,593,268
Deaths
Updated on Friday, 21 January 2022, 9:29:09 am IST 9:29 am

Global Statistics

All countries
343,114,432
Confirmed
Updated on Friday, 21 January 2022, 9:29:09 am IST 9:29 am
All countries
274,159,558
Recovered
Updated on Friday, 21 January 2022, 9:29:09 am IST 9:29 am
All countries
5,593,268
Deaths
Updated on Friday, 21 January 2022, 9:29:09 am IST 9:29 am
spot_imgspot_img

Deoghar: सत्संग आश्रम के तीसरे गुरु श्रीश्री आचार्य देव बड़ दा का निधन, शोक की लहर

देवघर सत्संग आश्राम (Deoghar Satsang Ashram) के तीसरे गुरु श्रीश्री आचार्य देव बड़ दा (आचार्य अशोक चक्रवर्ती) का दुर्गापुर मिशन अस्पताल में गुरुवार की सुबह निधन हो गया. आचार्य देव कई दिनों से बीमार चल रहे थे.

Deoghar: देवघर सत्संग आश्राम (Deoghar Satsang Ashram) के तीसरे गुरु श्रीश्री आचार्य देव बड़ दा (आचार्य अशोक चक्रवर्ती) का दुर्गापुर मिशन अस्पताल में गुरुवार की सुबह निधन हो गया. आचार्य देव कई दिनों से बीमार चल रहे थे. आश्रम से मिली जानकारी के अनुसार, वे 89 साल के थे.

पिछले दो माह से मिशन अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा था. उनके निधन की सूचना मिलते ही दुर्गापुर में लाखों की संख्या में अनुयायी जुट गये.

आचार्य देव के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुःख व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट कर आचार्य देव को महान सामाजिक कार्यकर्ता बताते हुए उनके द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य आदि क्षेत्रों में उनके अभूतपूर्व योगदान को याद किया है.

वही बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने गुरुजी के प्रति शोक संवेदना व्यक्त किया है. गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने भी आचार्य देव के निधन पर अपनी संवेदना व्यक्त किया है.

आश्रम के मलय सरकार ने बताया कि बड़ दा के निधन की खबर पर बंगाल सरकार ने गुरुवार को सरकारी अवकाश की घोषणा की है.

शव यात्रा में उमड़ पड़ी अनुयायियों की भीड़

निधन के बाद आचार्य देव की शव यात्रा दुर्गापुर में अस्पताल परिसर से निकाली गयी. इसमें करीब एक लाख अनुयायी शामिल होकर अपने गुरु को रोते हुए विदा किये. शवयात्रा को दुर्गापुर स्थित सत्संग आश्रम की शाखा श्यामपुर मंदिर आश्राम ले जाया गया़.

वहां पर अंतिम संस्कार के लिए पहले से पूरी तैयारी की गयी थी. श्रीश्री आचार्य देव को ज्येष्ठ पुत्र अरकोद्वति चक्रवर्ती उर्फ बबॉय दा ने मुखाग्नि दी़

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!