Global Statistics

All countries
339,709,667
Confirmed
Updated on Thursday, 20 January 2022, 4:23:57 pm IST 4:23 pm
All countries
271,051,991
Recovered
Updated on Thursday, 20 January 2022, 4:23:57 pm IST 4:23 pm
All countries
5,584,789
Deaths
Updated on Thursday, 20 January 2022, 4:23:57 pm IST 4:23 pm

Global Statistics

All countries
339,709,667
Confirmed
Updated on Thursday, 20 January 2022, 4:23:57 pm IST 4:23 pm
All countries
271,051,991
Recovered
Updated on Thursday, 20 January 2022, 4:23:57 pm IST 4:23 pm
All countries
5,584,789
Deaths
Updated on Thursday, 20 January 2022, 4:23:57 pm IST 4:23 pm
spot_imgspot_img

‘Bully Buy’ ऐप मामले में DCW ने साइबर सेल को समन जारी किया

दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने सोमवार को ‘बुली बाई’ ऐप मामले में दिल्ली पुलिस की साइबर सेल को समन जारी किया है।

New Delhi: दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने सोमवार को ‘बुली बाई’ ऐप मामले में दिल्ली पुलिस की साइबर सेल को समन जारी किया है। डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि आयोग ने कई मुस्लिम लड़कियों (Muslim Girls) की तस्वीरों को उनकी सहमति के बिना इंटरनेट प्लेटफॉर्म ‘गिटहब’ (‘GitHub’) पर अपलोड किए जाने के संबंध में मीडिया रिपोर्टों पर स्वत: संज्ञान लिया।

डीसीडब्ल्यू के अनुसार, सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं और लड़कियों की छेड़छाड़ की गई तस्वीरों को एक अज्ञात समूह द्वारा इंटरनेट प्लेटफॉर्म ‘गिटहब’ का उपयोग करके एक ऐप पर अपलोड किया गया था और इसे ‘बुल्ली डील ऑफ द डे’ शब्द के साथ साझा किया गया था।

डीसीडब्ल्यू ने इसी तरह के एक मामले पर भी प्रकाश डाला जो 2021 में सामने आया था। जिसमें कई मुस्लिम महिलाओं और लड़कियों की तस्वीरें ‘सुल्ली डील्स’ नाम से एक ही ‘गिटहब’ ऐप पर अपलोड की गई थीं। उस मामले में दिल्ली पुलिस ने डीसीडब्ल्यू के हस्तक्षेप के बाद पिछले साल जुलाई में प्राथमिकी दर्ज की थी, अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

डीसीडब्ल्यू का कहना कहा है कि इतने गंभीर मामले में दोषियों की गिरफ्तारी न होना भयावह है और कानून प्रवर्तन एजेंसी के इस कठोर रवैये ने दोषियों और अन्य लोगों का हौसला बढ़ाया है जो लगातार महिलाओं और लड़कियों को ऑनलाइन बेच रहे हैं।

इसलिए आयोग ने दिल्ली पुलिस को उसके सामने पेश होने और ‘सुल्ली डील’ और ‘बुली बाई’ दोनों मामलों में गिरफ्तार लोगों की सूची उपलब्ध कराने को कहा है। इसके अलावा आयोग ने दिल्ली पुलिस द्वारा ‘गिटहब’ ऐप के खिलाफ की गई कार्रवाई के साथ-साथ ‘गिटहब’ जैसे प्लेटफॉर्म को भविष्य में इस तरह की अपमानजनक और अवैध सामग्री को अपलोड करने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों का विवरण मांगा है। दिल्ली पुलिस को यह बताने के लिए भी कहा गया है कि क्या ऐसी घटनाओं के संबंध में उनके द्वारा कोई दिशा-निर्देश बनाया गया है। दिल्ली पुलिस को दोनों मामलों की पूरी केस फाइलों के साथ छह जनवरी 2022 को डीसीडब्ल्यू के समक्ष पेश होने का निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!