spot_img
spot_img

Good News: पहली बार 1,002 महिलाओं को सेनाओं में अधिकारी बनने के लिए मिली कामयाबी

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश पर पहली बार राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (NDA) की परीक्षा में शामिल हुईं करीब आठ हजार महिलाओं में से 1,002 को कामयाबी मिली है।

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश पर पहली बार राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (NDA) की परीक्षा में शामिल हुईं करीब आठ हजार महिलाओं में से 1,002 को कामयाबी मिली है। अब यह महिला उम्मीदवार सेवा चयन बोर्ड और मेडिकल टेस्ट में शामिल होंगी जिसमें से 20 महिलाओं को एनडीए के पहले बैच के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा, ताकि वे सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना में अधिकारी के रूप में शामिल हो सकें।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी भारतीय सशस्त्र सेना की एक संयुक्त सेवा अकादमी है, जहां तीनों सेवाओं, थलसेना, नौसेना और वायु सेना के कैडेट्स को उनके संबंधित सेवा अकादमी के पूर्व-कमीशन प्रशिक्षण में जाने से पहले एक साथ प्रशिक्षित किया जाता है। यह महाराष्ट्र में पुणे के करीब खडकवासला में है। अभी तक एनडीए और नेवल एकेडमी की प्रवेश परीक्षा में सिर्फ युवकों को ही दाखिला मिलता रहा है। इस पर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर करके कहा गया कि ऐसा करना उन योग्य युवतियों के अधिकारों का हनन है, जो सेना में शामिल होकर देश की सेवा करना चाहती हैं।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने 08 सितम्बर को एक हलफनामे में अदालत से मई, 2022 तक का समय देने का आग्रह किया था ताकि तकनीकी दिक्कतों और इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव करके लड़कियों को एनडीए की प्रवेश परीक्षा में शामिल किया जा सके।

इसके विपरीत कोर्ट ने सख्त रुख अपनाते हुए एनडीए और नेवल एकेडमी में महिलाओं के प्रवेश को स्थगित करने की केंद्र सरकार की याचिका खारिज कर दी। कोर्ट का कहना था कि सेनाएं तेजी से काम करने में सक्षम हैं और इस बार भी रास्ता निकाल लेंगी। कोर्ट ने नवम्बर में होने वाली प्रवेश परीक्षा में ही महिला उम्मीदवारों को शामिल करने की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया। इस पर यूपीएससी ने अपनी वेबसाइट upsconline.nic.in पर ऑनलाइन महिला उम्मीदवारों से 8 अक्टूबर तक आवेदन मांगे। यह पहली बार है जब 14 नवंबर को हुई एनडीए की प्रवेश परीक्षा में इतनी संख्या में महिलाएं शामिल हुईं। कुल 8,000 महिलाओं में से 1,002 उम्मीदवारों को कामयाबी मिली है। अब चिकित्सा परीक्षणों के बाद 20 महिलाओं को अगले साल के एनडीए पाठ्यक्रम के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा।

पहली बार एनडीए में भर्ती होने वाली 20 महिला कैडेट्स को प्रशिक्षण के बाद सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना में अधिकारी के रूप में शामिल किया जाएगा। एनडीए अगले साल कुल 400 कैडेट्स को भर्ती करेगा, जिनमें से सेना 10 महिलाओं सहित 208 उम्मीदवारों को लेगी। नौसेना में तीन महिलाओं सहित 42 उम्मीदवारों का प्रवेश होगा, जबकि भारतीय वायुसेना 120 उम्मीदवारों को प्रवेश देगी, जिनमें से छह महिलाएं होंगी। एनडीए अपने बुनियादी ढांचे को संशोधित करके मजबूत सुरक्षा तंत्र स्थापित कर रहा है। महिला प्रशिक्षकों, स्त्री रोग विशेषज्ञों सहित डॉक्टर्स और अन्य आवश्यक सहायक कर्मचारियों की नियुक्ति शुरू की जा रही है।

पुणे के खडकवासला में स्थित एनडीए का औपचारिक उद्घाटन 1955 में हुआ था। वर्तमान में इसमें कुल 18 स्क्वाड्रन हैं, जिनमें से प्रत्येक में लगभग 120 कैडेट शामिल हैं। संस्थान में वर्तमान में अपने छह कार्यकाल में लगभग 2,020 कैडेट हैं। कैडेट कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा के बाद अपने प्री-कमीशन प्रशिक्षण के लिए एनडीए में शामिल होते हैं। हर साल एनडीए और संयुक्त रक्षा सेवा की चार प्रवेश परीक्षाओं के लिए छह लाख से अधिक उम्मीदवार आवेदन करते हैं। एनडीए पहले से ही अपनी मौजूदा 18 में दो और स्क्वाड्रन जोड़ने और सैन्य कैडेट्स की वार्षिक संख्या को बढ़ाने पर काम कर रहा है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!