Global Statistics

All countries
176,485,162
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
158,738,016
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
3,812,244
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm

Global Statistics

All countries
176,485,162
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
158,738,016
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
3,812,244
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
spot_imgspot_img

पॉलिश गेहूं बेचते थे आरोपी, जज ने वकील से कहा- आप खाकर दिखाइये, जमानत दे देंगे

मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता के वकील से कहा कि आपकी अर्जी पर हम विचार करने के लिए तैयार हो जाएंगे अगर आप या आपकी फैमिली उस खाद्य सामग्री को खाने के लिए तैयार हैं जो आपका क्लाइंट बेचता है।

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस इंदिरा बनर्जी की अगुवाई वाली बेंच के सामने मध्यप्रदेश के नीमूच जिले के दो याचिकाकर्ता प्रवर गोयल और विनित गोयल की ओर से अग्रिम जमानत की अर्जी दाखिल की गई थी। मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता के वकील से कहा कि आपकी अर्जी पर हम विचार करने के लिए तैयार हो जाएंगे अगर आप या आपकी फैमिली उस खाद्य सामग्री को खाने के लिए तैयार हैं जो आपका क्लाइंट बेचता है।

सुप्रीम कोर्ट ने की सख्त टिप्पणी

खाद्य पदार्थ में मिलावट के एक मामले में आरोपी की अग्रिम जमानत अर्जी पर सुनवाई से इनकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ये टिप्पणी की। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि केवल भारत में हम स्वास्थ्य चिंताओं को लेकर उदासीन हैं। सुप्रीम कोर्ट ने वकील से कहा कि क्या आप अपने क्लाइंट का खाद्य पदार्थ खाने को तैयार हैं।

चुप हो गए वकील

याचिकाकर्ता के वकील इस पर चुप से हो गए और फिर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह अग्रिम जमानत की अर्जी पर विचार के लिए तैयार नहीं हैं। तब याचिकाकर्ता ने कहा कि वह अर्जी वापस लेना चाहते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने याची के वकील से कहा कि क्या आप और आपकी फैमिली ये सामग्री खाने को तैयार है। अगर हां तो हम जमानत के लिए तैयार हैं। अदालत ने कहा कि आपको जवाब देने में दिक्कत क्यों हो रही है। लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया जाए? हम आपकी अर्जी पर क्यों विचार करें।

दोनों पर पॉलिश वाले गेहूं बेचने का आरोप

दरअसल, दोनों आरोपियों पर आरोप है कि दोनों पॉलिश वाले गेहूं बेचते थे। उसमें किया जाने वाला रंगरोगन खाने वाले नहीं थे। दिसंबर में हुई रेड में सैकड़ों किलोग्राम पॉलिश किया हुआ गेहूं बरामद किया गया था। दोनों पर मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचेन का आरोप है। याचिकाकर्ता के वकील ने इस मामले की सुनवाई के दौरान गुहार लगाई थी कि खाद्य पदार्थ में मिलावट का मामला जमानती है ऐसे में उनके क्लाइंट के गिरफ्तारी का औचित्य नहीं है। धोखाधड़ी का भी आरोप है और वह गैर जमानती है ऐसे में अग्रिम जमानत दी जानी चाहिए। जिसपर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles