spot_img

भारी बारिश के कारण केरल में भूस्खलन, 15 की मौत, 15 की बची जान

Deoghar Airport का रन-वे बेहतर: DGCA


केरल।

भारी बारिश के कारण केरल के मुन्नार में एक बड़ा भूस्लखन हुआ। जिसकी चपेट में आ कर अबतक 15 लोगों के मारे जाने की खबर है। ये घटना मुन्नार के इडुक्की इलाके की है। 

शुक्रवार सुबह यह भूस्खलन जिले के राजामलई इलाके में हुआ है. इस हादसे में अब तक 15 अन्य को बचाया गया है और मुन्नार के टाटा जनरल अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. ऐसा बताया जा रहा है कि घटनास्थल पर कई और लोगों के दबे होने की आशंका है. 

अधिकारियों का कहना है कि जिस इलाके में यह भूस्खलन हुआ वह पर्यटन नगरी मुन्नार से लगभग 25 किलोमीटर दूर है. अधिकारियों ने कहा कि यहां 70 से 80 लोग रहते थे और उन्हें भी पता नहीं है कि कितने और लोग मलबे और कीचड़ फंसे हुए हैं। तालुका के अधिकारियों ने कहा कि गुरुवार को यहां एक कनेक्टिंग ब्रिज बह गया था, जिससे इलाके तक पहुंचने में मुश्किल हो रही है और बचाव कार्य को गति नहीं मिल पा रही है। अधिकारियों से मिली सुचना के हिसाब से ये पता चला है की तेज़ और लगातार बारिश होने के कारण इस इलाके से संपर्क नहीं हो पा रहा।  बारिश के चलते संपर्क टूट गया है। 

इलाके में रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि लगातार बारिश के कारण बिजली की लाइन प्रभावित होने से इलाके में संचार सेवाएं भी बाधित हैं। वहा के जिला प्रशासन ने अस्पताल की सेवाएं भी तैयार रखी है और साथ ही साथ पुलिस और दमकल कर्मी मौके पर मौजूद है।

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने किया ट्वीट

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने ट्वीट कर कहा, राज्य अग्निशमन सेवा का 50 सदस्यीय विशेष विशेष बल, जो रात-दिन के काम के साजों-सामान से लैस है, वह घटना स्थल पर भेजा गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने वायुसेना के हेलीकॉप्टरों से बचाव और राहत कार्य में मदद मांगी है. एनडीआरएफ की टीम भूस्खलन स्थल पर पहुंच गई है। 

प्रधानमंत्री ने केरल में भूस्खलन में जान की क्षति पर दुख जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के इडुक्की जिले में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन में कई लोगों की मौत होने पर शुक्रवार को दुख जताया. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘इडुक्की में भूस्खलन में हुई जान की क्षति से दुखी हूं। दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं.'' उन्होंने घायलों के शीर्घ स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और प्रशासन मौके पर काम कर रहा है तथा प्रभावित लोगों को सहायता की जा रही है। 

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर बताया कि मारे गए प्रत्येक व्यक्ति के परिवार को प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष से दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। इसके साथ ही घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे। 


नमन

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!