spot_img

5G की दौड़ में आगे निकलने के लिए JIO ने एरिक्सन के साथ किया करार

New Delhi: निजी क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने 5जी नेटवर्क के लिए दूरसंचार उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन (ericsson) के साथ एक समझौता किया है। एरिक्सन और रिलायंस जियो ने 5जी एकल (SA) नेटवर्क बनाने के लिए दीर्घकालिक साझेदारी की घोषणा की है।

कंपनी ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा कि देश में रेडियो एक्सेस नेटवर्क तैनाती के लिए जियो और एरिक्सन के बीच यह पहली साझेदारी है। कंपनी ने कहा कि जियो द्वारा एकल 5जी नेटवर्क तैनाती प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उठाया गया एक बड़ा कदम है। इससे उपभोक्ताओं और उद्यमों को वास्तव में परिवर्तनकारी 5जी अनुभव मिलेंगे।

रिलायंस जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी ने कहा कि हम जियो के 5जी एसए तैनाती के लिए एरिक्सन के साथ साझेदारी करके खुश हैं। आकाश अंबानी ने कहा कि हमें विश्वास है कि जियो का 5जी नेटवर्क भारत के डिजिटलीकरण को गति देगा और डिजिटल इंडिया के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में नींव के रूप में काम करेगा।

इस समझौते पर एरिक्सन के चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) बोरये एक्होम ने कहा कि भारत एक विश्वस्तरीय डिजिटल बुनियादी ढांचे का निर्माण कर रहा है, जो पूरे देश में नवाचार, रोजगार सृजन और उद्यमिता को बढ़ावा देगा। दरअसल दोनों कंपनियों के बीच समझौता की यह घोषणा भारत में हाल में 5जी नीलामी के तहत स्पेक्ट्रम आवंटन और इसकी लॉन्चिंग के बाद की गई है।

उल्लेखनीय है कि देश में एक अक्टूबर, 2022 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में 5जी नेटवर्क सर्विस को लॉन्च किया था। इसके बाद रिलायंस जियो ने चार प्रमुख शहरों शहरों (दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और वाराणसी) में इसको लॉन्च किया। जियो ने विजयादशमी के अवसर पर ट्रू 5जी सर्विस के बीटा ट्रायल की शुरुआत भी कर दिया है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!