spot_img
spot_img

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर इस राज्य ने ‘Human Milk Bank’ की स्थापना की

नवजात शिशुओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए कर्नाटक सरकार ने मंगलवार को बेंगलुरु सहित चार जिला मुख्यालयों पर राज्य में स्थापित 'ह्यूमन (Breast) मिल्क बैंक' को समर्पित किया है।

Bengaluru: नवजात शिशुओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए कर्नाटक सरकार ने मंगलवार को बेंगलुरु सहित चार जिला मुख्यालयों पर राज्य में स्थापित ‘ह्यूमन (Breast) मिल्क बैंक’ को समर्पित किया है। अभी तक यह सुविधा निजी अस्पतालों में ही उपलब्ध थी।

स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने वाणी विलास अस्पताल परिसर में ‘अमृतधारे ह्यूमन मिल्क बैंक’ और हाई रिस्क प्रेग्नेंसी बिल्डिंग का उद्घाटन करते हुए अपील की कि मांएं मां के दूध दान के लिए आगे आएं, जिससे बच्चों की जान बचेगी।

“मां का दूध बच्चों के लिए अमृत है। कोई भी बच्चा मां के दूध से रहित नहीं होना चाहिए। दुर्भाग्य से कुछ बच्चों को अपनी मां की मृत्यु या विभिन्न कारणों से स्तन का दूध नहीं मिल पाता, उन बच्चों की जरुरत को पूरा करने के लिए, मैसूर, बेलागवी और बेंगलुरु सहित चार जिला मुख्यालयों में स्तन दूध बैंक खोले गए हैं।”

मां के दूध में प्रोटीन, सेलाइन, फैट, सरकोफैगस होता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। उपकरण का उपयोग करके दाता माताओं से स्तन दूध एकत्र किया जाएगा, इसे पास्चुरीकृत किया जाएगा और फिर फ्रीज किया जाएगा। इसे छह महीने तक स्टोर किया जा सकता है।

अब तक 27 लीटर मां का दूध एकत्र किया जा चुका है। इसमें से 90 बच्चों को 21 लीटर पानी पहले ही दिया जा चुका है।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!