Latest News

Republic Day 2021: नई दिल्ली के राजपथ पर बांग्लादेश की सेना भी गणतंत्र दिवस परेड में लेगी भाग

N7News Admin 13-01-2021 06:59 PM देश

बांग्लादेश की 122 सदस्य टुकड़ी गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने पहुंची दिल्ली।



बीकानेर


नई दिल्ली। 

बांग्लादेश सशस्त्र बलों (Bangladesh Armed Forces) के 122 सैनिकों की एक टुकड़ी विशेष विमान IAF C-17 से भारत पहुँच चुकी है। यह टुकड़ी 26 जनवरी 2021 को नई दिल्ली में भारत के गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेगी। कोविड प्रोटोकॉल के चलते बांग्लादेशी टुकड़ी 19 जनवरी तक क्वारंटीन रहेगी और उसके बाद राजपथ पर होने वाली परेड की रिहर्सल में शामिल होगी। 

बांग्लादेश (Bangladesh) मुक्ति संग्राम  के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में बांग्लादेश ट्राइ-सर्विस मार्चिंग कंटेस्टेंट और सेरेमोनियल बैंड इस साल गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) में नई दिल्ली (New Delhi) के राजपथ (Rajpath) पर हिस्सा लेंगे। बांग्लादेश की सैन्य टुकड़ियों में अधिकांश सैनिक बांग्लादेश सेना की सबसे प्रतिष्ठित यूनिट से हैं, जिनमें 1, 2, 3, 4, 8, 9, 10 और 11 पूर्वी बंगाल रेजिमेंट और 1, 2 और 3 फील्ड आर्टिलरी रेजिमेंट शामिल हैं जिन्हें 1971 के लिबरेशन युद्ध में लड़ने और जीतने का विशिष्ट सम्मान प्राप्त है। 

ये तीसरी बार है जब किसी मित्र-देश की सैन्य-टुकड़ी राजपथ पर दिखाई पड़ेगी। इससे पहले फ्रांस (2016) और यूएई (2017) के सैनिक भी गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा ले चुके हैं। खास बात ये है कि भारत ये साल पाकिस्तान पर '71 के युद्ध में मिली विजय का स्वर्णिम-वर्ष मना रहा है।  '71 के युद्ध के बाद ही पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए थे और बांग्लादेश का जन्म हुआ था। 

बांग्लादेश सशस्त्र बल के 50 साल पूरे

2021 एक मह्रत्वपूर्ण वर्ष है क्योंकि इस वर्ष लिबरेशन युद्ध के 50 साल पूरे हो गए, जिसके माध्यम से बांग्लादेश एक जीवंत राष्ट्र के रूप में उभरा, जो भारत के सहयोग से अत्याचार और उत्पीड़न से मुक्त हुआ था। मुक्ति संग्राम 1971 में 25 मार्च से 16 दिसंबर तक चला और 16 दिसम्बर को बांग्लादेश ने पकिस्तान से आजादी हासिल की। भारत ने 93 हजार सैनिकों को घुटने टेकने के लिए मजबूर कर दिया था। भारत पहला देश था जिसने दिसंबर 1971 में अपनी आजादी के तुरंत बाद बांग्लादेश को एक अलग और स्वतंत्र राज्य के रूप में मान्यता दी और देश के साथ राजनयिक संबंध स्थापित किए। 50 साल पहले एक साथ मिलकर लड़ने वाली ताकतें अब एक बार फिर से राजपथ पर मार्च करेंगी. बांग्लादेश की टुकड़ी बहादुर मुक्ति योद्धाओं की विरासत को आगे बढ़ाएगी जिन्होंने स्वतंत्रता, न्याय और अपने लोगों के लिए लड़ाई लड़ी।  

30 जनवरी तक भारत में रहेगी बांग्लादेशी टुकड़ी

बांग्लादेश की टुकड़ी में तीनों सेनाओं के सैनिक शामिल हैं, यानि बांग्लादेशी थलसेना, वायुसेना और नौसेना।  इस टुकड़ी में मिलिट्री बैंड के सदस्यों के साथ-साथ कुल 122 सैनिक हैं। परेड में हिस्सा लेने के लिए सैन्य टुकड़ी अपनी सेरेमोनियल-राइफल बांग्लादेश से ही लेकर आई है। बांग्लादेश सशस्त्र सेनाओं की टुकड़ी 30 जनवरी तक भारत में रहेगी। इस दौरान परेड में हिस्सा लेने के अलावा आगरा और अजमेर का दौरा भी करेगी। 

बता दें कि इस साल कोविड प्रोटोकॉल के चलते गणतंत्र दिवस परेड में आने वाले दर्शकों की संख्या को बेहद कम कर दिया गया है। माना जा रहा है कि इस बार इस भीड़ को एक चौथाई ही रखा जाएगा। इस साल स्कूली बच्चे के कार्यक्रम भी राजपथ पर देखने को नहीं मिलेंगे। 


नमन





रिलेटेड पोस्ट