Latest News

Best Diet 2021: मेडिटेरेनियन डाइट लगातार चौथे साल नंबर-1

N7News Admin 12-01-2021 06:13 PM हेल्थ & फिटनेस

Symbolic Image



बीकानेर


Health & Fitness 

मेडिटेरेनियन डाइट (Mediterranean Diet) को 2021 की बेस्ट डाइट का अवॉर्ड (Award of Best Diet 2021) भी मिला है। 'यूएस न्यूज एंड वर्ल्ड रिपोर्ट' के मुताबिक, मेडिटेरेनियन डाइट लगातार चौथे साल दुनिया की नंबर-1 डाइट बनी है।

आइए जानते हैं मेडिटेरेनियन डाइट और इसके फायदों के बारे में। 

मेडिटेरेनियन एक प्लांट बेस्ड डाइट है, जिसमें फल, सब्जी, फलियां, साबुत अनाज और ऑलिव ऑयल जैसी चीजें शामिल हैं। इसके अलावा इसमें मछली और पोल्ट्री भी होता है. इसमें ताजा आहार पर जोर दिया जाता है। एक्सपर्ट्स का दावा है कि इस डाइट को रेगुलर फॉलो करने वालों की सेहत काफी अच्छी रहती है। 

दिल के लिए फायदेमंद

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (ADA) की रिपोर्ट के मुताबिक, मेडिटेरेनियन डाइट हमारे दिल की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है और इससे कार्डियोवस्क्युलर डिसीज का खतरा भी कम होता है। यानी इससे हाई ब्लड प्रेशर और दूसरे हृदय संबंधी रोगों का खतरा कम होता है। 

डाइबिटीज कंट्रोलर

जर्नल डायबिटीज केयर में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, मेडिटेरेनियन डाइट टाइप-2 डायबिटीज के मामले में भी बड़ी फायदेमंद है। मेडिटेरेनियन डाइट में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन्स और अनसैचुरेटेड फैटी एसिड नैरोवस्क्युलर हेल्थ को सुधारकर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस, मेटाबोलाइट्स और क्रोनिक इन्फ्लेमेशन का खतरा कम करते हैं। 

ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम

JAMA इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मेडिटेरेनियन डाइट ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम करने में भी कारगर है। 

आंतों को फायदा

कई स्टडीज में ये बात साबित हो चुकी है कि मेडिटेरेनियन डाइट हमारी आंतों के लिए भी काफी अच्छी होती है। मेडिटेरेनियन डाइट में मौजूद एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी आतों को फायदा पहुंचाने वाले बैक्टीरिया के पनपने में मदद करता है। 

मानसिक सेहत को फायदा

फल, सब्जी और अखरोट-बादाम जैसी चीजों से भरपूर ये डाइट हमारे दिमाग के फंक्शन को भी दुरुस्त करती है। जर्नल न्यूरोलॉजी में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, ये कग्निटिव डिक्लाइन प्रोसेस को धीमा करके एक जवां मस्तिष्क प्रदान करने में मदद करती है। 

किन चीजों से होता है परहेज

मेडिटेरेनियन डाइट में कुछ चीजों से परहेज भी करना पड़ता है। इसमें मीठा खाना मना होता है। एल्कोहोलिक पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए या फिर डॉक्टर की सलाह पर करना चाहिए। शरीर को पर्याप्त नींद और आराम दिया जाता है। साथ ही रेगुलर वर्कआउट पर भी फोकस किया जाता है। 


नमन





रिलेटेड पोस्ट