Latest News

Bird flu को लेकर अलर्ट: बंद किया गया लखनऊ चिड़ियाघर का बर्ड सेक्शन, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

N7News Admin 10-01-2021 05:28 PM उत्तर प्रदेश



बीकानेर


लखनऊ। 

उत्तर प्रदेश में पक्षियों के महामारी ने इंट्री कर ली है। बर्डफ्लू (Bird Flu) को लेकर उत्तरप्रदेश सरकार (UP Goverment) भी अलर्ट मोड में आ गई है। इसको लेकर सरकार की तरफ से एडवाइजरी जारी की गई है। मुख्य सचिव आर.के तिवारी ने एक एडवाइजरी जारी कर सबको सतर्क रहने की हिदायत दी गई है। 

बर्ड फ्लू के खतरे की आशंका को देखते हुए रविवार सुबह से ही लखनऊ चिड़ियाघर (Lucknow Zoo) का बर्ड सेक्शन बंद कर दिया गया है। जहाँ दर्शकों के जाने पर रोक लगा दी गई है। कानपुर (kanpur) में भी बर्ड फ्लू के केस मिलने के बाद एहतियातन यह कदम उठाया गया है।

चिड़ियाघर प्रशासन ने अब भोजन के रूप में पशुओं को चिकेन देना बंद कर दिया है। ज्यादातर जानवरों को चिकन की जगह अंडा दिया जा रहा है। वह भी 20 मिनट तक उबालने के बाद दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। बर्ड फ्लू से बचाव के लिए पक्षियों को दवाइयां भी दी जा रही है और डॉक्टरों को समय-समय पर चेकिंग करने को लगाया है।

मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि कानपुर में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। इसे लेकर पूरी एडवाइजरी जारी कर दी गई है। सभी को अलर्ट किया गया है। कैसे इसकी जांच करनी है, इसके निर्देश दिए गए हैं। इससे किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। केवल सतर्क रहने की आवश्यकता है।

लक ज़ू


बर्ड फ्लू को लेकर जारी एडवाइजरी

सभी बर्ड सेंक्चुरी और पक्षी पार्कों की सूची बनाई जाए जहां पर प्रवासी पक्षी आते हैं। भारत सरकार की ओर से संक्रमण को लेकर गाइडलाइन्स का पूरी तरह से पालन कराया जाए और संक्रमण रोकने के तरीकों को इस्तेमाल किया जाए।

अगर कोई बाहरी पक्षियों का झुंड पानी पीने के लिए आता है तो उस पर नज़र रखी जाए। जलाशयों में पानी पीने के बाद अगर कोई पक्षी मृत पाया जाता है तो तत्काल फॉरेंसिक जांच के लिए लैब में भेजा जाए।

दूसरे राज्यों से आनेवाले पक्षियों खासकर मुर्गियों को लेकर आने वाली गाड़ियों की जांच की जाए। अगर कोई पक्षी बीमार या मृत पाया जाता है तो उसे प्रदेश की सीमा में प्रवेश करने न दिया जाए।

► प्रदेश के जिलाधिकारी ये सुनिश्चित करें कि उनके जिलों में फेस मास्क और पीपीई किट की कमी ना हो, इसका ज़रूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जाए।

जिलों में मुर्गा और उसके उत्पादों के इस्तेमाल के लिए जन जागरण अभियान चलाया जाए, किसी भी तरह की अफ़वाह को ना फैलने दिया जाए।

मुर्गा मंडियों को हफ्ते में एक दिन बंद रखा जाए और उस दिन मंडी की पूरी साफ सफाई की जाए।


नमन





रिलेटेड पोस्ट

  • चार साल के बाद जेल से रिहा हुई वी के शशिकला
    एआईएडीएमके से निष्कासित नेता वी के शशिकला को आज अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेल से रिहा कर दिया। शशिकला कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी रिहाई की प्रक्रिया अस्पताल से पूरी की गई।
  • Farmers Protest : हिंसा के बाद दो किसान संगठनों ने खत्म किया आंदोलन, टिकैत पर लगाए आरोप
    गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद किसान आंदोलन (Kisan Andolan) में फूट पड़ गई है। दो किसान संगठनों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन को वापस लेने का ऐलान किया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने गाजीपुर और नोएडा बॉर्डर पर चल रहे प्रदर्शन को वापस ले लिया। इसके साथ भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप भी लगाए।