Latest News

देवघर CO अनिल कुमार सिंह पर गिरी गाज: निलंबन की विभागीय प्रक्रिया शुरू

N7News Admin 07-01-2021 08:31 PM देवघर

Symbolic Image



 बीकानेर


देवघर। 

देवघर सीओ (Deoghar CO) अनिल कुमार सिंह के कार्यप्रणाली एवं राजस्व कार्य में अनियमितता की लगातार मिल रही शिकायत पर विभाग गंभीर हो गया है। इतना ही नहीं बिना अवकाश स्वीकृति (Leave Sanction) के अनाधिकृत रूप से अपने कार्यालय व मुख्यालय से सीओ इन दिनों गायब हैं। जिसको लेकर झारखण्ड सरकार के राजस्व निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के संयुक्त सचिव ने पत्र जारी कर स्पष्टीकरण (Explanation) पूछा है कि क्यों नहीं सीओ अनिल कुमार सिंह को निलंबित करते हुए उनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही प्रारम्भ की जाये। 

राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के संयुक्त सचिव अभिषेक श्रीवास्तव द्वारा जारी पत्र में इस बात का जिक्र है कि देवघर सीओ अनिल कुमार सिंह के विरुद्ध राजस्व कार्यों में अनियमितताएं बरते जाने एवं पिछले एक साल के दौरान देवघर अंचल में किये गए राजस्व संबंधी कार्यों की जाँच में सहयोग नहीं किये जाने की शिकायत लगातार प्राप्त हो रही है। साथ ही यह भी सूचना मिली है कि अंचलाधिकारी बिना अवकाश स्वीकृत कराये अनाधिकृत (Unauthorised) रूप से अपने कार्यालय में अनुपस्थित रहे हैं। जो एक सरकारी कर्मी के अपने कर्तव्य के प्रति लापरवाही को प्रदर्शित करता है और अनियमितताओं में संलिप्त होने का आभाष भी कराता है। कहा गया है कि सीओ के इस गैरजिम्मेदाराना रवैये से विभाग एवं सरकार की छवि धूमिल हो रही है।

सीओ ऑफिस

सीओ को निर्देश दिया गया है कि 18 जनवरी तक उपायुक्त, देवघर के माध्यम से अपना स्पष्टीकरण समर्पित करें कि राजस्व कार्यो में आपके द्वारा बरती गई अनियमितताएं, जाँच समिति को सहयोग नहीं किये जाने और बिना अवकाश स्वीकृत कराये स्वेच्छा से अनाधिकृत रूप से अपने कार्यालय एवं मुख्यालय से अनुपस्थित रहने के कारण क्यों नहीं आपको तत्काल प्रभाव से निलंबित (Suspend) करते हुए आपके विरुद्ध कार्यवाही शुरू की जाये।  


नमन





रिलेटेड पोस्ट

  • चार साल के बाद जेल से रिहा हुई वी के शशिकला
    एआईएडीएमके से निष्कासित नेता वी के शशिकला को आज अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेल से रिहा कर दिया। शशिकला कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी रिहाई की प्रक्रिया अस्पताल से पूरी की गई।
  • Farmers Protest : हिंसा के बाद दो किसान संगठनों ने खत्म किया आंदोलन, टिकैत पर लगाए आरोप
    गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद किसान आंदोलन (Kisan Andolan) में फूट पड़ गई है। दो किसान संगठनों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन को वापस लेने का ऐलान किया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने गाजीपुर और नोएडा बॉर्डर पर चल रहे प्रदर्शन को वापस ले लिया। इसके साथ भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप भी लगाए।