Latest News

परीक्षार्थियों के लिए Good News, JPSC की नई नियमावली को सरकार ने दी स्वीकृति

N7News Admin 07-01-2021 01:11 AM रांची




रांची।

झारखंड सरकार ने बुधवार को दो अहम प्रस्ताव पास किए।

कैबिनेट द्वारा पास किया गया पहला प्रस्ताव राज्य के परीक्षार्थियों के लिए तो, दूसरा प्रस्ताव राज्य के ऊर्जा उपभोक्ताओं के बेहतरी के लिए लाया गया।

कंबाइंड सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन रूल 2021 को स्वीकृति

सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बताया कि कैबिनेट ने कंबाइंड सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन रूल 2021 को स्वीकृति दे दी है। उन्होंने बताया कि राज्य में अब नए रूल के हिसाब से परीक्षाएं होंगी। विकास आयुक्त , वित्त सचिव और कार्मिक सचिव की बनी कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर नियमावली बनी है। नए नियम के आधार पर सभी 15 सेवाओं के लिए होने वाली परीक्षा की शैक्षणिक योग्यता और उम्र सीमा एक समान रहेगी। अब पीटी के आधार पर 15 गुना उम्मीदवारों का चयन मुख्य परीक्षा के लिए किया जाएगा। अनारक्षित श्रेणी के कट ऑफ मार्क्स से आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए कट ऑफ मार्क्स अधिकतम 8 फीसदी ही कम होगा, इंटरव्यू के लिए कुल सीटों के ढाई गुना उम्मीदवारों को बुलाया जाएगा।

जेपीएससी पर पूर्व में सवाल उठते रहे हैं

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि नौजवानों को रोजगार को लेकर जेपीएससी (JPSC) पर पूर्व में सवाल उठते रहे हैं। अब ऐसा ना हो इसलिए नई नियमावली बनाई गई है। 1951 के बाद पहली बार नई नियमावली बनी है, उन्होंने कहा कि नए सिरे से नई नियमावली के साथ जेपीएससी काम करेगा ।

बिजली के मामले पर केंद्र के साथ समझौते से झारखंड अलग हुआ

साथ ही CM Hemant Soren ने कहा कि बिजली के मामले पर केंद्र के साथ समझौते से झारखंड (Jharkhand) अलग हो गया है। अब आरबीआई (RBI) सीधे झारखंड का पैसा नहीं काट पाएगी। अब सरकार बिजली खरीद कर उसका भुगतान करेगी।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने यह भी कहा कि डीवीसी (DVC) एक तरफ बिजली कटौती कर रही है और आरबीआई राज्यों के खाते से सीधे पैसे काट रही है। वह पैसे वृद्धावस्था पेंशन छात्रवृत्ति आदिवासी कल्याण के थे। इसलिए पूर्व के दस्तावेज को निरस्त करने का फैसला लिया गया।





रिलेटेड पोस्ट

  • चार साल के बाद जेल से रिहा हुई वी के शशिकला
    एआईएडीएमके से निष्कासित नेता वी के शशिकला को आज अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेल से रिहा कर दिया। शशिकला कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी रिहाई की प्रक्रिया अस्पताल से पूरी की गई।
  • Farmers Protest : हिंसा के बाद दो किसान संगठनों ने खत्म किया आंदोलन, टिकैत पर लगाए आरोप
    गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद किसान आंदोलन (Kisan Andolan) में फूट पड़ गई है। दो किसान संगठनों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन को वापस लेने का ऐलान किया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने गाजीपुर और नोएडा बॉर्डर पर चल रहे प्रदर्शन को वापस ले लिया। इसके साथ भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप भी लगाए।