Latest News

जमशेदपुर:6 साल से लिव इन (Live In Relationship) में रह रही नर्स की संदेहास्पद मौत,किचन में मिला शव

N7News Admin 01-01-2021 05:24 PM जमशेदपुर

मृत महिला की तस्वीर।



बीकानेर


जमशेदपुर। 

कदमा थाना के रामनगर रोड नंबर-3 के जयंती अपार्टमेंट में रहनी वाली ब्रह्मानंद नारायण हृदयालय की नर्स अनीता शर्मा की संदेहास्पद हालत में लाश मिली है। अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर बी-4/2 के किचन में उसका शव पड़ा मिला। महिला के मुंह और शरीर के अन्य हिस्सों में चोट के निशान हैं, जबकि बाल पूरी तरह जल गए हैं। पुलिस को महिला के प्रेमी अरविंद कुमार सिंह पर शक है। पुलिस ने अरविंद कुमार सिंह का मोबाइल जब्त कर लिया है। पूछताछ की जा रही है।

छह साल से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही थी महिला 

दो बच्चे का पिता अरविंद कुमार सिंह अनीता के साथ छह साल से लिव-इन रिलेशनशिप (Live In Relationship) में था। प्रेमी अरविंद कुमार सिंह ने ही पुलिस को शव की जानकारी दी। उसने पुलिस को बताया कि बुधवार रात 8.30 बजे वह अनिता को फ्लैट पर छोड़कर अपने घर चला गया था। घर जाने के बाद उसने कई बार अनिता को फोन किया। लेकिन उसका कोई जवाब नहीं आया। गुरुवार रात करीब 10 बजे वह अनीता के फ्लैट आया। दरवाजे पर बाहर से ताला लगा था। अरविंद के पास ताले की दूसरी चाभी थी। ताला खोलकर वह अंदर गया तो अनीता किचन में मृत मिली।

18 साल की उम्र में ही घर छोड़ दिया था

शव मिलने की सूचना पर कदमा पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को जब्त कर लिया है। सूचना पाकर मृतका का भाई मनोज कुमार शर्मा भी मौके पर पहुंचा। मनोज ने बताया कि उसकी बहन अनीता ने 18 साल की उम्र में ही घर छोड़ दिया था। वह शुरू से ही अलग रहना चाहती थी। मूल रूप से परसुडीह की रहने वाली अनीता के पति सुनील सिंह ने उसे 20 साल पहले छोड़ दिया था। अनीता की कोई संतान नहीं है।

इधर, पुलिस पुरे मामले को गंभीरता से लेते हुए छानबीन कर रही है। 


नमन





रिलेटेड पोस्ट

  • चार साल के बाद जेल से रिहा हुई वी के शशिकला
    एआईएडीएमके से निष्कासित नेता वी के शशिकला को आज अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेल से रिहा कर दिया। शशिकला कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी रिहाई की प्रक्रिया अस्पताल से पूरी की गई।
  • Farmers Protest : हिंसा के बाद दो किसान संगठनों ने खत्म किया आंदोलन, टिकैत पर लगाए आरोप
    गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद किसान आंदोलन (Kisan Andolan) में फूट पड़ गई है। दो किसान संगठनों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन को वापस लेने का ऐलान किया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने गाजीपुर और नोएडा बॉर्डर पर चल रहे प्रदर्शन को वापस ले लिया। इसके साथ भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप भी लगाए।