Latest News

कलयुगी बेटे ने माँ को अस्पताल में छोड़ा, अस्पताल प्रबंधन रख रहा बुजुर्ग का ख्याल

N7News Admin 04-12-2020 03:40 PM साहेबगंज




साहिबगंज।

साहिबगंज में एक कलयुगी बेटा अपनी 80 वर्षीय बुजुर्ग मां को अस्पताल में छोड़कर भाग गया और आज तक मिलने तक नहीं आया।

बुजुर्ग माँ दो महीना से जिला सदर अस्पताल में पड़ी हुई है। आज भी अपनों का इंतजार कर रही बूढ़ी आंखे।

दरअसल एक कलयुगी बेटे ने अपनी 80 वर्षीय बुजुर्ग मां को अस्पताल में छोड़कर भाग गया और आज तक मिलने तक नहीं आया। कुछ भी बोलने में असमर्थ बुजुर्ग दो महीनों से जिला सदर अस्पताल में है और अपने बेटे का इंतजार कर रही है।

इस बुजुर्ग महिला की एक पहचान वाली ने बताती है कि महिला जिरवाबड़ी थाना अंतगर्त चानन गांव की रहने वाली है। यह महिला बेटा, बेटी, नाती, पोता वाली है। फिर भी उसका पुत्र छोटू पासवान मां को इस अवस्था में छोड़कर भाग गया है। गांव वाला कोई मिलने आता है और जाकर बोलता है कि मां को लेकर आ तो बेटा कहता है जो लेकर आएगा वो रखेगा। 

वहीं, अस्पताल के एक कर्मी ने बताया कि पिछले दो महीना से बुजुर्ग महिला पड़ी हुई है। इन्हें कोई भी ले जाने वाला नहीं है, न ले जाने की वजह मालूम नहीं है लेकिन अस्पताल प्रबंधन की ओर से भोजन दिया जा रहा है और ख्याल रखा जा रहा है।





रिलेटेड पोस्ट

  • चार साल के बाद जेल से रिहा हुई वी के शशिकला
    एआईएडीएमके से निष्कासित नेता वी के शशिकला को आज अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेल से रिहा कर दिया। शशिकला कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी रिहाई की प्रक्रिया अस्पताल से पूरी की गई।
  • Farmers Protest : हिंसा के बाद दो किसान संगठनों ने खत्म किया आंदोलन, टिकैत पर लगाए आरोप
    गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद किसान आंदोलन (Kisan Andolan) में फूट पड़ गई है। दो किसान संगठनों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन को वापस लेने का ऐलान किया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने गाजीपुर और नोएडा बॉर्डर पर चल रहे प्रदर्शन को वापस ले लिया। इसके साथ भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप भी लगाए।