Latest News

धनबाद में 22 अधिकारियों व कर्मचारियों को किया गया शो-कॉज

N7News Admin 31-10-2020 06:10 PM धनबाद

उमा शंकर सिंह, उपायुक्त,धनबाद।




धनबाद। 

जमीन के रिकॉर्ड को ऑनलाइन करने और म्यूटेशन में हेरा-फेरी मामले में धनबाद के उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने धनबाद, बाघमारा, बलियापुर और गोविंदपुर के वर्तमान और पूर्व अंचलाधिकारियों (सीओ), धनबाद के सब-रजिस्टार एवं पूर्व सब-रजिस्टार सहित 22 अधिकारियों, कर्मियों को शो-कॉज किया गया है. सभी से एक सप्ताह के अंदर जवाब मांगा गया है.

उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने साइबर के जरिये ऑनलाइन दाखिल खारिज कर करोड़ों की अवैध कमाई करनेवालों के खिलाफ सख्त कदम उठाया है. दाखिल-खारिज और निबंधन में खाता और प्लॉट की उलटफेर करने के मामले में उपायुक्त ने धनबाद के अंचलाधिकारी प्रशांत लायक, पूर्व सीओ प्रकाश कुमार, बलियापुर के सीओ, गोविंदपुर की सीओ वंदना भारती, पूर्व सीओ अनिल कुमार एवं बाघमारा के सीओ राजेश कुमार, प्रमोद राम को शो-कॉज जारी किया है. साथ ही इन चारों अंचलों के अंचल निरीक्षक, जिला अवर निबंधक श्वेता कुमारी, पूर्व अवर निबंधक संतोष कुमार एवं कई हल्काकमियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है. इन अंचलों के कुछ कर्मियों से भी शो-कॉज किया गया है.

भाजपा नेता रमेश कुमार राही ने राजस्व, निबंधन तथा भूमि सुधार विभाग के प्रधान सचिव को तीन पत्र के माध्यम से दाखिल खारिज में गड़बड़ी के करीब डेढ़ सौ मामलों की शिकायत की थी. शिकायत पत्र में खाता प्लॉट बदल कर रजिस्ट्री व म्यूटेशन करने, सीएनटी और  सरकारी भूमि का दाखिल खारिज करने और निबंधन में गड़बड़ी कर सरकार को राजस्व का चूना लगाने का आरोप है.

राजस्व, निबंधन और भूमि सुधार विभाग के प्रधान सचिव के.के सोन ने उपायुक्त को अर्द्ध सरकारी पत्र लिखकर 21 दिनों में जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया था. उपायुक्त ने अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर जांच का आदेश दिया. जांच के लिए अलग-अलग छह सब कमेटियां भी बनायी गयी हैं. जांच दल ने शिकायत पत्र में पहले पत्र की जांच कर करीब तीन दर्जन मामलों में गड़बड़ी मिलने का प्रतिवेदन उपायुक्त को सौंपा. जांच प्रतिवेदन पर कार्रवाई करते हुए उपायुक्त ने धनबाद, बलियापुर, गोविंदपुर, बाघमारा के वर्तमान एवं पूर्व अंचलाधिकारियों, अंचल निरीक्षकों, जिला अवर निबंधक एवं हल्काकमियों से जवाब मांगा है. उपायुक्त ने बताया कि जांच दल को त्रुटियां मिली हैं. त्रुटियों पर बिंदुवार स्पष्टीकरण मांगा गया है.

उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने कहा कि प्रथम दृष्टया जांच में आरोपों को सही पाया गया है. संबंधित अधिकारियों, कर्मियों के जवाब के बाद कार्रवाई होगी. किसी को भी बख्शा नहीं जायेगा.


एस्ट्रो





रिलेटेड पोस्ट