Latest News

झारखंड में सरना धर्मकोड लागू करने की मांग हुई तेज, 20 अक्टूबर को राज्यव्यापी रैली 

N7News Admin 17-10-2020 05:49 PM रांची

मीडिया से रूबरू होते धर्मगुरु बंधन तिग्गा, शिक्षाविद् डाॅ करमा उरांव व अन्य।




रांची। 

झारखंड में सरना धर्म कोड लागू करने की मांग को लेकर सरना समाज के लोग गोलबंद होने लगे हैं. आगामी 20 अक्टूबर को पूरे राज्य में महारैली निकालने का ऐलान सरना सदस्यों की ओर से किया गया है. इसको लेकर सरना आदिवासी समाज और आदिवासी संस्कृति सरना धर्म रक्षा अभियान के तहत 32 से अधिक शीर्ष सामाजिक एवं सांस्कृति संगठनों की ओर से कार्यक्रम और रणनीति की घोषणा की गयी. 

सरना और आदिवासी संगठनों से जुड़े सदस्यों ने कहा कि सरना धर्म कोड लागू करने की मांग को लेकर राज्य भर में 20 अक्टूबर को महारैली को आयोजन किया जायेगा. यह महारैली अभूतपूर्व होगी. महारैली का स्वरूप सभी प्रखंड, अनुमंडल, जिला एवं राज्य स्तर पर राजधानी रांची में होगी. रैली के दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी और उपायुक्त को मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल के नाम मांग पत्र सौंपी जायेगी. वहीं, आगामी 27 एवं 28 फरवरी, 2021 को रांची में क्रमश: आदिवासी संस्कृति सरना धर्म संसद एवं महारैली भी आयोजित करने का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है.

सदस्यों ने कहा कि राजधानी रांची में रैली हरमू मैदान और पिसका मोड़ से रातु रोड होते हुए कचहरी चौक होकर मोरहाबादी मैदान स्थित गांधी प्रतिमा के पास पहुंचेगी. इधर तेतर टोली, सरना स्थल बरियातू से रैली मोरहाबादी स्थित गांधी प्रतिमा के समीप मैदान में पहुंचेगी और वहीं समाप्त होगी. इस दौरान प्रतिनिधिमंडल की ओर से रांची में राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी सौंपा जायेगा.राज्यपाल और मुख्यमंत्री को सौंपे ज्ञापन में झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर सिर्फ सरना धर्म संबंधी प्रस्ताव पारित कराकर केंद्र सरकार को अनुशंसा भेजने की मांग की जायेगी, ताकि केंद्र सरकार जनगणना परिपत्र 2021 में सरना धर्मकोड अधिसूचित कर सके.

सदस्यों ने कहा कि आगामी 20 अक्टूबर, 2020 के राज्यव्यापी महारैली समस्त सरना आदिवासी समाज एवं आदिवासी सांस्कृति सरना धर्म रक्षा अभियान के तत्वावधान में झारखंड के अग्रणी संगठनों में राजी पड़हा सरना प्रार्थना सभा, केंद्रीय सरना समिति, आदिवासी छात्र संघ, आदिवासी सेना, झारखंड आदिवासी संयुक्त मोर्चा, झारखंड सरना आदिवासी समाज, संयुक्त पड़हा महासभा सहित राज्य भर के 32 से अधिक शीर्ष संगठन शामिल होकर महारैली को सफल बनायेंगे.

मीडिया से बात करते हुए सरना और आदिवासी संगठनों से जुड़े सदस्यों ने इस रैली में आने वाले लोगों से मास्क लगाना अनिवार्य के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की बात भी कही.


astrologer





रिलेटेड पोस्ट