Latest News

कोरोना काल में बदतर हालात में पहुंचे मूर्तिकार

N7News Admin 04-10-2020 06:54 PM बोकारो

क्लिक कर देखे वीडियो




बोकारो। 

कोरोना महामारी में दुर्गा पूजा इस बार काफी संयमित तरीके से मनाए जाने वाला है। इसी को लेकर मूर्ति बनाने वाले मूर्तिकारों की स्थिति भी बद से बदतर हो गई है।

मूर्तिकारों का कहना है कि स्थिति ये हो गई है कि जो कारीगर मूर्ति बनाने का काम करते थे वे अब मजदूरी और सब्जी बेच कर अपना पेट पालने को मजबूर है। इस कोरोना काल मे माँ दुर्गा की पूजा भी बिना किसी बड़े पंडाल और मेला लगा कर किये जाने का निर्देश सरकार के द्वारा दिया गया है। इस पूजा से जुड़े मूर्तिकार जो बड़े मूर्तियों का निर्माण पूर्व में करते थे।इस बार ये लोग 4 फीट से 5 फीट की मूर्ति बनाने का काम कर रहें है।

इनका कहना है कि इस बार बड़े मूर्ति का डिमांड समितियों के द्वारा नहीं की गई है। इस कारण जहाँ मंदिरों में पारंपरिक पूजा होती हैं वहां के लिए छोटी मूर्ति बनाने का काम कर रहे है।मूर्तिकार ने बताया कि पूर्व में बीस से पच्चीस बड़ी मूर्ति बोकारो और उसके आस पास के क्षेत्रों में यहाँ से ले जाई जाती थी।लेकिन कोरोना ने सब खत्म कर दिया है।

इस कारण 10 कारीगर मजदूरी कर अपना और अपने घर वालों का पेट पालने का काम कर रहे है।यह समय हमसभी के लिए संकट भरा है।वहीं मूर्तिकार के यहां काम करने वाले कारीगर का कहना है कि यहाँ पहले दस कारीगर काम करते थे।लेकिन आज कोई सब्जी बेच रहा है या फिर मजदूरी कर रहा है।कारीगर का कहना है कि उसका व्यक्तिगत नुकसान एक से सवा लाख का हुआ है।


astrologer





रिलेटेड पोस्ट