Latest News

पेड़ काटने पहुंचे थे वन विभाग के कर्मी, बचाने के लिए भिड़ गये लोग

N7News Admin 22-06-2020 09:53 AM राज्य




पटना।

स्वस्थ्य वातावरण के लिए पेड़ों का होना कितना ज़रूरी है, इसको लेकर आम लोग जागरूक हो गए हैं। तभी तो सभी पेड़ों को सहेज कर रखना चाहते हैं। इसका ताज़ा उदाहरण पटना के कंकड़बाग के यशोदा देवी पथ में देखने को मिला, जहां एक पेड़ को बचाने के लिए डॉक्टर सहित स्थानीय लोग वन विभाग के कर्मियों से भिड़ गये।

क्या है मामला

दरअसल स्थानीय सरकारी पार्क से सटे तीन हरे-भरे पेड़ को काटने का आदेश जिला वन पदाधिकारी ने दिया था। पदाधिकारी के आदेशानुसार हरे-भरे पेड़ को काटने के लिये वन विभाग के कर्मचारी पहुंच भी गये। लेकिन इसी कॉलोनी में रहने वाले एक न्यूरो फिजिशियन डॉ सजंय कुमार ने जब पेड़ को कटते देखा तो पेड़ों की जिंदगी बचाने के लिये वो वन विभाग के कर्मियों से भिड़ गये।

जब तक डॉक्टर वहां पहुंचे तब तक एक पेड़ की लगभग सभी टहनियों को काट दिया गया था। डॉ. संजय ने पेड़ काटने का विरोध किया। इस दरम्यान डॉक्टर साहब को देखकर स्थानीय लोग भी सामने आये। और पेड़ों को काटने से कर्मियों को रोक। तभी, वन विभाग के कर्मियों ने सरकारी काम में बाधा डालने का डर दिखाया, लेकिन बिना डरे पेड़ को बचाने के लिए लोगों का विरोध जारी रहा।

लोगों की नाराजगी और गुस्से को देख बाकी के दो पेड़ को फिलहाल काटने से विभाग द्वारा छोड़ दिया गया है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि ये पेड़ काफी पुराने हैं और हरे-भरे हैं। मानव जीवन की बेहतर स्वास्थ्य के लिए पर्यावरण का संरक्षण ज़रूरी है। ऐसे में जहां सरकार पेड़ लगाने पर ज़ोर दे रही, वहीं, वन विभाग हरे-भरे पेड़ को काट रहा है।

आरोप है कि पार्क से सटे एस्बेस्टस में रहने वाले लोगों ने इन मेडीसीनल प्लांट की टहनियों से एस्बेस्टस को खतरा बताते हुए इन तीन पेड़ को खतरनाक घोषित कर उसे काटने का आदेश जारी करा लिया था। जबकि पेड़ काफी अच्छी हालत में हैं और इनसे कोई बहुत बड़ा खतरा भी नहीं दिख रहा है। 





रिलेटेड पोस्ट