spot_img

एक दिन में 25 हज़ार युवाओं को नौकरी का रिकॉर्ड


रांची: 

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि सरकार ने राज्य से बेरोजगारी हटाने का प्रण लिया है. आज 27 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार मिलने के अवसर पर उन्हें बधाई.  यह एक ऐतिहासिक क्षण है, जब एक साथ 27 हजार से अधिक युवाओं को निजी क्षेत्रों में रोजगार प्राप्त हुआ है. आप दिल लगा कर काम करें और झारखंड का नाम रौशन करें. मुख्यमंत्री आज खेलगांव स्थित टाना भगत इंडोर स्टेडियम में राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर आयोजित स्किल समिट 2018 के अवसर पर युवाओं को संबोधित कर रहे थे।

न                                                                                                    नियुक्ति पत्र सौंपते श्रम मंत्री 

स्टेडियम में उपस्थित युवाओं अपार भीड़ को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि युवाओं के उत्साह को देख ऐसा लग रहा है कि युवाओं को आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता। स्वामी विवेकानंद  की जंयती जिसे पूरा देश राष्ट्रीय युवा दिवस के रुप में मना रहा है के अवसर पर झारखण्ड इतिहास रच रहा है। हमारी सरकार ने आज 25 हजार युवाओं को रोजगार देन का वादा किया था उसे आज पूरा किया है। आज झारख्रण्ड प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नये भारत के निर्माण के सपने को पूरा करने में अपनी सीधी भागीदारी निभा रहा है। रघुवर दास ने कहा कि पूरा विश्व जब बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहा है उसी समय झारखण्ड सरकार ने एक टीम भावना से काम कर जिसमें सरकार एवं निजी क्षेत्र ने मिलकर युवाओ को बेहतर रोजगारोन्मुख इको सिस्टम दिया है। आज हम शान से कह सकते हैं कि रोजगार देखना है, विकास देखना है तो झारखण्ड आईये। 

मुख्यमंत्री ने अपने बीते समय को याद करते हुए बताया कि 1977 में मेरे पिताजी टाटा स्टिल कंपनी से सेवा मुक्त हुए थे और मैं 1980 में 1500 रुपये में नौकरी पकड़ी साथ ही कुजू से कोयला लाकर भी अपनी टाल के माध्यम से बेचा। इसलिए मैं बेरोजगारी का दर्द समझता हूं इसका पूरा अनुभव है मुझे। झारखंड का मुख्यमंत्री बनने पर मैंने संकल्प लिया कि मैं झारखंड का नंबर 1 मजदूर बन कर राज्य की सेवा करुं। मुख्यमंत्री का पद मैने सेवा के लिये ही धारण किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सोच है कि भारत की दुनिया भर में स्किल्ड इंडिया के रुप में एक अलग पहचान बने। उन्होंने कहा कि झारखंड में कुशल श्रमिकों की एक फौज तैयार हो रही है, जो राज्य और देश के बाहर भी लोगों के बीच अपना ध्यान आकृष्ट करेंगें। हमारी सरकार ने 700 करोड़ रुपये खर्च कर झारखंड के बच्चों को कुशल बनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी बाजपेयी ने कहा था कि अंधेरा छटेंगा और विकास का सूरज निकलेगा झारखंड में अपार संभावनाएं हैं। आने वाले वर्षों में हमारा देश विकसित राष्ट्रों की श्रेणी में खड़ा होगा।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि राजधानी रांची में भी विदेश भवन जल्द बनेगा। आप युवा देश के बाहर सरकार द्वारा अधिकृत एजेंसी के माध्यम से ही जाएं। अगर बाहर कुछ दुर्घटना हो जाती है तो राज्य सरकार 5 लाख अनुदान स्वरुप प्रदान करेगी। आज हम 25 हजार लोगों को नौकरी दे रहे हैं अगले साल हम झारखंड के और एक लाख युवाओं को रोजगार देंगे।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!