Global Statistics

All countries
195,980,203
Confirmed
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 8:22:53 am IST 8:22 am
All countries
175,935,883
Recovered
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 8:22:53 am IST 8:22 am
All countries
4,192,978
Deaths
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 8:22:53 am IST 8:22 am

Global Statistics

All countries
195,980,203
Confirmed
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 8:22:53 am IST 8:22 am
All countries
175,935,883
Recovered
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 8:22:53 am IST 8:22 am
All countries
4,192,978
Deaths
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 8:22:53 am IST 8:22 am
spot_imgspot_img

सावन की शिवरात्रि


देवघर:

सावन का हर दिन शिव का दिन होता है. लेकिन आज का दिन कुछ खास है. आज सावन की शिवरात्रि है. इस दिन बाबा भोले और माता पार्वती को एक साथ जल चढ़ाने से भोले बाबा ज़्यादा खुश होते हैं. शिवरात्रि पर बाबा भोले की नगरी में भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा और पूरी बाबा नगरी बोल बम के नारे से गूंज उठी है. 

सावन के इस पावन महीने में आज का दिन काफी शुभ मान जाता है. आज सावन मास की शिवरात्रि है. त्रियोदशी उपरांत चतुदर्शी को शिव का सबसे प्यारा दिन माना जाता है. ऐसे तो महा शिवरात्रि फाल्गुन में मनायी जाती है. लेकिन हर महीने के कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को शिवरात्रि होती है. 
सावन की शिवरात्रि का खासा महत्व है. कहा जाता है कि आज के दिन शिव और पार्वती एक साथ पूजा स्वीकार करते हैं. इसलिए इस दिन शिव और पार्वती को एक साथ जल अर्पण करने से मनोकामना जल्द पूरी होती है. 
शिवरात्रि के साथ-साथ आज सावन का आधा महिना भी पूरा हो गया है. यानि आज मध्य सावन भी है और त्रियोदशी उपरांत चतुदर्शी भी. इसलिए आज का दिन शिव का दिन है. कहा जाता है कि चतुदर्शी को ही लिंग की स्थापना हुई है. इसलिए ये दिन हर माह में शुभ और फलदाई होता है. 
आज की इस विशेष तिथि पर भक्तों का सैलाब बाबामंदिर में उमड़ पड़ा. चुकीं बैद्यनाथधाम में शिव और पार्वती दोनों एक साथ विराजमान हैं इसलिए यहाँ का महत्व ज्यादा है.  

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!