Global Statistics

All countries
244,446,047
Confirmed
Updated on Monday, 25 October 2021, 12:36:41 pm IST 12:36 pm
All countries
219,757,590
Recovered
Updated on Monday, 25 October 2021, 12:36:41 pm IST 12:36 pm
All countries
4,964,147
Deaths
Updated on Monday, 25 October 2021, 12:36:41 pm IST 12:36 pm

Global Statistics

All countries
244,446,047
Confirmed
Updated on Monday, 25 October 2021, 12:36:41 pm IST 12:36 pm
All countries
219,757,590
Recovered
Updated on Monday, 25 October 2021, 12:36:41 pm IST 12:36 pm
All countries
4,964,147
Deaths
Updated on Monday, 25 October 2021, 12:36:41 pm IST 12:36 pm
spot_imgspot_img

मिसाइल सिस्टम ऑफ इंडिया पर वेबीनार का आयोजन


देवघर। 

गुरुकुल एवं इनरव्हील क्लब ऑफ देवघर के तत्वावधान में आज एक वेबीनार का आयोजन किया गया जो मिसाइल सिस्टम ऑफ इंडिया पर आधारित था। इस सेमिनार के मुख्य अतिथि थे वैज्ञानिक मुकेश कुमार। 

मुकेश कुमार लोहानी पटना के जन्मे हैं और काफी साधारण स्थिति में उनका बचपना बीता है। उसके बावजूद उन्होंने एनआईटी जमशेदपुर से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन में अपनी इंजीनियरिंग पूरी की और अपने मेहनत और लगन से डीआरडीओ में साइंटिस्ट बने। 

आज वो साइंटिस्ट (एस) के रूप में डीआरडीओ की एडवांस सिस्टम लैब में काम कर रहे हैं। हमारा सौभाग्य था कि उन्होंने हमारे देवघर के बच्चों के लिए मिसाइल से रिलेटेड चर्चा के लिए तैयार हुए और बहुत ही खुबसूरती से डी आर डी ओ एवं उसके द्वारा किए जा रहे कायों की जानकारी दी। यह कार्यक्रम बहुत ही सफल रहा।

उन्होंने भारतीय मिसाइल प्रणाली का परिचय दिया , अलग-अलग प्रकार की मिसाइल तथा उसके उपयोग के बारे में बताया जैसे आकाश, पृथ्वी त्रिशूल, नाग ,अग्नि इत्यादि। उन्होंने बताया कि एपीजे अब्दुल कलाम जी ने किस प्रकार से मिसाइल सिस्टम को विकसित कराया और आज हमारा भारत मिसाइल पर मिसाइल बनाता चला जा रहा है। 

साथ ही उन्होंने अग्नि मिसाइल सिस्टम के कार्य प्रणाली से रूबरू करवाया

अग्नि के सभी मिसाइलों में क्या अंतर है यह बताया जैसा हम सब जानते हैं कि अग्नि1 ,अग्नि 2,अग्नि 3, अग्नि4 एवं अग्नि 5 यह 5 तरह के अग्नि मिसाइल है और के अंतर को उन्होंने बतलाया। इसी प्रकार से उन्होंने भारतीय रक्षा में मिसाइल किस तरह काम करता है ,यह बतलाया कि इस तरह हमारा मिसाइल देश में आ रहे हैं भारी मिसाइल को हवा में ही नष्ट करके हमें भी रखा कर सकता है एवं इस प्रकार से यह मिसाइल अंतरिक्ष में घूमते उपग्रहों को नष्ट कर सकते हैं। 

इस कार्यक्रम को रूपरेखा देने में गुरुकुल के रवि सर ने अहम भूमिका निभाई साथ ही साथ इनरव्हील क्लब की अध्यक्षा इंजीनियर अंजू बैंकर, उपाध्यक्ष रश्मि रंजन एवं पी पी एकता रानी का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

कार्यक्रम में बच्चों के साथ अन्य स्कूलों के प्रधानाचार्य भी जुड़े जैसे JC Raj , प्रेम , ममता किरण इत्यादि।  


नमन

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!