Global Statistics

All countries
178,607,264
Confirmed
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
161,410,672
Recovered
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
3,867,064
Deaths
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm

Global Statistics

All countries
178,607,264
Confirmed
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
161,410,672
Recovered
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
3,867,064
Deaths
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
spot_imgspot_img

लाॅटरी सिस्टम के माध्यम से लाभुकों को दिया गया पीएम आवास का लाभ

■ आवास योजना के माध्यम से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से हजारों श्रमिकों को दिया जा रहा है रोजगार-उपायुक्त

■ सरकार व जिला प्रशासन का प्रयास है कि कोई भी बेघर न रहे-उपायुक्त


देवघर। 

उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी कमलेश्वर प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में 18 सितम्बर 2020 को आचार्य नरेन्द्र देव भवन जसीडीह में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तृतीय घटक के लाभुकों को लाॅटरी के माध्यम से आवास आवंटित किया गया।

कार्यक्रम के दौरान 665 लाभुकों में 173 लाभुकों को स्वीकृति पत्र उपायुक्त द्वारा प्रदान किया गया। जल्द हीं अन्य लाभुकों भी लाॅटरी सिस्टम के माध्यम से आवास स्वीकृत किया जायेगा।

आवास

इस दौरान उपायुक्त कमलेश्वर प्रसाद सिंह द्वारा जानकारी दिया गया कि मोहनपुर में निर्माणाधीन अवासीय परिसर में लगभग 320 वर्गफीट का घर के साथ इन आवासों में पार्क व बच्चों के खेलने हेतु खुला क्षेत्र, जलापूर्ति व्यवस्था, विद्युतिकरण एवं स्ट्रीट लाईट, वाहन पार्किंग की व्यवस्था, पीसीसी सड़क, कांटीदार तार की चहारदिवारी, पानी निकासी हेतु उतम ड्रेनेज की व्यवस्था, रेन वाटर हार्वेस्टिंग आदि की सभी सुविधाएं उपलब्ध रहेगा।

                                                                            आवास

निर्मित किये जाने वाले आवास का मूल्य 6.74 (छः लाख चोहत्तर हजार) रूपया है, जिसमें केन्द्र एवं राज्य सरकार से अनुदान सहायता राशि कुल 2.50 (दो लाख पचास हजार) रूपये के पश्चात में कुल 4.24 (चार लाख चैबिस हजार) रूपया लाभुक अंशदान के रूप में देय होता है। इसके अलावा आवासीय परिसर में व्यवसायिक गतिविधियों यथा-दुकान, सामुदायिक केन्द्र इत्यादि के माध्यम से राजस्व संग्रहण का कार्य रेसिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा किया जायेगा, ताकि संग्रहित राजस्व के माध्यम से आवासीय परिसर का रख-रखाव भी किया जायेगा।

इसके अलावे प्रथम घटक में स्लम पुनर्विकास, द्वितीय घटक में ऋण संबद्ध सहायता, तृतीय घटक में भागीदारी में किफायती आवास व चतुर्थ घटक में लाभार्थी आधारित व्यक्तिगत आवास निर्माण के माध्यम से आवास का निर्माण किया जाना है। योजना के तहत लाभ हासिल करने की पात्रता रखने वाला कोई भी व्यक्ति आवेदन देकर आवास निर्माण में सहायता प्राप्त कर सकते हैं। 

इस दौरान मौके पर उपरोक्त के अलावे नगर आयुक्त शैलेन्द्र कुमार लाल व नगर निगम के अधिकारी, अभियन्ता व सिटी मैनेजर आदि उपस्थित थे।


नमन

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles