Global Statistics

All countries
176,156,980
Confirmed
Updated on Saturday, 12 June 2021, 9:20:46 pm IST 9:20 pm
All countries
158,387,026
Recovered
Updated on Saturday, 12 June 2021, 9:20:46 pm IST 9:20 pm
All countries
3,802,975
Deaths
Updated on Saturday, 12 June 2021, 9:20:46 pm IST 9:20 pm

Global Statistics

All countries
176,156,980
Confirmed
Updated on Saturday, 12 June 2021, 9:20:46 pm IST 9:20 pm
All countries
158,387,026
Recovered
Updated on Saturday, 12 June 2021, 9:20:46 pm IST 9:20 pm
All countries
3,802,975
Deaths
Updated on Saturday, 12 June 2021, 9:20:46 pm IST 9:20 pm
spot_imgspot_img

इंस्पेक्टर इंचार्ज को हटाने की मांग, पत्रकारों ने दिया धरना 


मधुपुर/देवघर। 

मधुपुर इंस्पेक्टर इंचार्ज सत्येंद्र प्रसाद के द्वारा छायाकार सन्नी खान के साथ किए गए अमानवीय व्यवहार को लेकर मधुपुर अनुमंडल के सभी प्रखंडों के पत्रकार संघ के द्वारा प्रखंड मुख्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया गया। धरना प्रदर्शन के बाद सभी प्रखंडों के पत्रकार संघ ने अपने-अपने प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपा यह मांग की कि इंस्पेक्टर इंचार्ज सत्येंद्र प्रसाद को तत्काल हटाया जाए और निलंबित किया जाए। 

जानकारी हो कि न्यूज़ कवरेज करते समय मधुपुर इंस्पेक्टर इंचार्ज सत्येंद्र प्रसाद ने सन्नी खान के साथ अपशब्द का इस्तेमाल करते हुए दुव्र्यवहार और उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी गयी थी। जिसके बाद पत्रकारों ने एकमत से कहा कि न्यूज़ कवरेज के दौरान दुर्व्यवहार कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जिस क्षेत्र में पत्रकार ही सुरक्षित नहीं, वहां आम जनता और उपेक्षित वर्गों का क्या होगा ? पत्रकारों ने एकमत होकर मांग की कि पत्रकार के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाले पुलिस इंस्पेक्टर का तत्काल स्थानांतरण होना चाहिए। जब तक पुलिस इंस्पेक्टर मधुपुर से नहीं हटाए जाते हैं, तब तक पत्रकारों का चरणबद्ध आंदोलन चलता रहेगा। अब यदि कार्यवाही नहीं हुई तो पत्रकार आमरण अनशन पर भी बैठेंगे।

पत्रकारों के धरने में पूर्व मंत्री व सारठ विधायक रणधीर सिंह भी हुए शामिल

पालोजोरी प्रखंड में पत्रकारों के धरने में पूर्व मंत्री सह वर्तमान सारठ विधायक रणधीर सिंह भी शामिल हुए. रणधीर सिंह ने इस तरह की घटना को लेकर प्रशासन द्वारा की गई मनमानी और पत्रकार सन्नी के साथ अपमानजनक बाते कहना और सभी पत्रकारों को झूठे केस में फसा देने की बात करने वाले इंस्पेक्टर इंचार्ज सत्येंद्र प्रसाद को अविलम्ब उनके पद से हटाने की बात की। उन्होंने सभी को कहा कि पत्रकार के साथ घटी घटना की जितनी भी निंदा की जाए वो कम है। उन्होंने कहा कि इतने दिन बीत जाने के बाद भी एक इंस्पेक्टर का नहीं हटाया जाना, वर्तमान सरकार की नीयत को दर्शाती है कि वह पत्रकारों के प्रति क्या सोच रखती है। पूर्व मंत्री ने यह भी कहा कि इस मामले को मैं विधानसभा में उठाऊंगा और इंस्पेक्टर इंचार्ज का तबादला ही नहीं, निलंबन भी होगा।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles