spot_img

झामुमो के अंदरखाने चीजें स्मूथ नहीं, विधायक बहु और पोती ने चलाया तीर, ध्यान दें गुरुजी

By: अमर्त्य एम.

रांची।

प्रदेश में सत्तारूढ़ महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे झारखंड मुक्ति मोर्चा के अंदर खाने स्थितियां स्मूथ नहीं नजर आ रही हैं। झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन की विधायक बहू सीता सोरेन के लगातार अटैक ने इस बात की तरफ इशारा किया है। सीता सोरेन पिछले 2 दिनों से संगठन और सरकार के खिलाफ मुखर हैं इतना ही नहीं उनकी इस लड़ाई में उनकी बेटी और दिशोम गुरु की पोती राज्यश्री ने भी हिस्सा लेना शुरू कर दिया है। 

सबसे बड़ी बात यह है कि सीता सोरेन ने संगठन में साजिश का आरोप उस दिन लगाया जब उनके पति और शिबू सोरेन के बड़े बेटे दुर्गा सोरेन की 52 वी जयंती मनाई गई। दुर्गा सोरेन भी झामुमो के कद्दावर  और जामा इलाके से विधायक थे। 2009 में उनकी मौत हो गई थी।

पति की राजनीतिक विरासत संभाल रही हैं सीता

दरअसल सीता सोरेन दुमका जिले के जामा विधानसभा इलाके से विधायक हैं। साथ ही पार्टी में केंद्रीय महासचिव के पद पर भी हैं 2 दिन पहले उन्होंने पार्टी सुप्रीमो को बकायदा एक पत्र लिखकर आरोप लगाया कि झामुमो को कुछ लोग जेबी संस्था बनाने पर तुले हुए हैं। उन्होंने वरिष्ठ पार्टी पदाधिकारी विनोद पांडे का नाम लेते हुए साफ तौर पर कहा कि पांडे उनके खिलाफ साजिश रच रहे हैं। चतरा के एक वाक्या का हवाला देते हुए सीता सोरेन ने कहा कि जब चतरा में झामुमो के कुछ कार्यकर्ताओं से मिलकर गए तो उन्हें विनोद पांडे ने पार्टी से बाहर निकाल दिया।

झामुमो में इसको लेकर खामोशी

इतना ही नहीं पब्लिक डोमेन में इस तरह की बातें आने के बाद भी अभी तक झामुमो की तरफ से किसी तरह का कोई स्पष्टीकरण भी नहीं आया है। एक तरफ सीता सोरेन तो दूसरी तरफ विनोद पांडे दोनों अपने-अपने पद पर लगातार बने हुए हैं। उनकी इस रस्साकशी के बीच सीता सोरेन की बेटी और शिबू सोरेन की पोती भी कूद गई है। सोरेन की पोती राज्यश्री ने साफ तौर पर ट्वीट कर संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारियों को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है।

 गुरुजी अस्पताल में, सीएम हेमन्त खामोश, उपचुनाव सर पर

राजनीतिक सूत्रों की माने दुमका विधानसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव से पहले सीता सोरेन की यह बयानबाजी पार्टी के लिए महंगी साबित हो सकती है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस पूरे मुद्दे पर हेमंत सोरेन खुद खामोश है। जबकि वह झामुमो के कार्यवाहक अध्यक्ष भी हैं। दुमका विधानसभा के लिए होने वाले उपचुनाव में शिबू सोरेन के सबसे छोटे बेटे बसंत सोरेन को उतारने की तैयारी चल रही है। ऐसे में पूरे परिवार का इंटैक्ट होना पार्टी के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है।वहीं दूसरी तरफ शिबू सोरेन कोरोना संक्रमित होने के बाद दिल्ली में इलाजरत हैं।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!