Global Statistics

All countries
176,485,162
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
158,738,016
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
3,812,244
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm

Global Statistics

All countries
176,485,162
Confirmed
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
158,738,016
Recovered
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
All countries
3,812,244
Deaths
Updated on Sunday, 13 June 2021, 6:28:59 pm IST 6:28 pm
spot_imgspot_img

नवरात्रि में एक महीने की देरी होगी, 165 साल बाद एक अजीब संयोग

By: Nidhi Jaiswal 

देवघर।

पितृ पक्ष शुरू होने में कुछ ही समय बचा है और पितृ पक्ष समाप्त होते ही नवरात्रि शुरू हो जाएगी। पितृ पक्ष के अंत में, अगले 9 दिनों तक माँ दुर्गा के 9 रूपों की पूजा की जाएगी। वैसे, इस साल पितृ पक्ष और शारदीय नवरात्रि के बीच एक महीने का अंतर रहा है। जी हां, इस साल श्राद्ध के अगले दिन से शुरू होने के बजाय, नवरात्रि एक महीने की देरी से होने वाली है। आपकी जानकारी के लिए, पितृ पक्ष 1 सितंबर से 17 सितंबर तक शुरू होगा।

वहीं, श्राद्ध में पितरों की पूजा की जाएगी। इस दौरान लोग पिंडदान, तर्पण, हवन करेंगे और अपने पुरखों को भोजन अर्पित करेंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार, श्राद्ध की समाप्ति के बाद, आदिमास की अवधि शुरू हो जाएगी और इसके कारण, नवरात्रि और पितृपक्ष के बीच एक महीने का अंतर आने वाला है। इस बार आदिमानव 17 सितंबर से 16 अक्टूबर तक होंगे और जैसे ही आदिमास खत्म होगा, 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि शुरू हो जाएंगे।

अगर ज्योतिषियों की माने तो इस बार 165 साल बाद ऐसा अजीब संयोग बनने जा रहा है। वैसे, ज्योतिषियों ने कहा कि इसके पीछे का कारण यह है कि, 'लीप ईयर के कारण यह एक संयोग बन रहा है।' वे कहते हैं कि इस बार आदिमास और लीप वर्ष एक ही वर्ष में पड़ रहे हैं और इस कारण चतुर्मास, जो हर साल चार महीने का है, इस बार पांच महीने का होने जा रहा है। वे कहते हैं कि चातुर्मास की उपस्थिति के कारण, इस अवधि के दौरान शुभ कार्य और मांगलिक कार्य नहीं किए जाएंगे।


बीकानेर

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles