Global Statistics

All countries
267,480,680
Confirmed
Updated on Wednesday, 8 December 2021, 2:55:32 pm IST 2:55 pm
All countries
239,180,342
Recovered
Updated on Wednesday, 8 December 2021, 2:55:32 pm IST 2:55 pm
All countries
5,289,062
Deaths
Updated on Wednesday, 8 December 2021, 2:55:32 pm IST 2:55 pm

Global Statistics

All countries
267,480,680
Confirmed
Updated on Wednesday, 8 December 2021, 2:55:32 pm IST 2:55 pm
All countries
239,180,342
Recovered
Updated on Wednesday, 8 December 2021, 2:55:32 pm IST 2:55 pm
All countries
5,289,062
Deaths
Updated on Wednesday, 8 December 2021, 2:55:32 pm IST 2:55 pm
spot_imgspot_img

कोरोना के इलाज के लिए सरकार ने तय किया निजी अस्पतालों का रेट,जानिए क्या है चार्ज 


रांची। 

झारखंड सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना मरीजों के इलाज में निजी अस्पतालों की मनमानी पर नकेल कसने के लिए कैपिंग दर निर्धारित कर दिया है. अब झारखंड के सभी जिलों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है. इसमें भी एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पताल और नॉन एनएबीएच अस्पतालों के लिए अलग-अलग दर तय किये गये हैं. जिसके तहत अब कोई भी अस्पताल कैटेगरी के अनुसार न्यूनतम चार हजार से अधिकतम 18 हजार रुपये प्रतिदिन से अधिक नहीं ले सकेंगे.  

राज्य के सभी जिलों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है

कैटेगरी A में रांची, पूर्वी सिंहभूम, धनबाद और बोकारो शामिल है 

कैटेगरी B में हजारीबाग, पलामू, देवघर, सराकेला, रामगढ़ और गिरिडीह शामिल है 

कैटेगरी C में चतरा, दुमका, गढ़वा, गोड्डा, गुमला, जामताड़ा, खूंटी, कोडरमा, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़, साहेबगंज, सिमडेगा और पश्चिमी सिंहभूम शामिल हैं.

सभी जिला के अस्पतालों को दो कैटेगरी में बांटा गया है. पहली कैटेगरी एनएबीएच और दूसरी नॉन एनएबीएच है.

ग्रुप ए जिला (एनएबीएच)
बिना लक्षण के मरीज के लिए 6000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसोलेशन बेड 10000 (ऑक्सीजन के साथ)
आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 15000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 18000

ग्रुप ए (नॉन एनएबीएच)
बिना लक्षण के मरीज के लिए 5500 (पीपीइ किट के साथ)
आइसोलेशन बेड 8000 (ऑक्सीजन के साथ)
आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 13000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 15000

ग्रुप बी जिला (एनएबीएच अस्पताल)
बिना लक्षण के मरीज के लिए 5500 (पीपीइ किट के साथ)
आइसोलेशन बेड  8000 (ऑक्सीजन के साथ)
आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 12000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 14400

ग्रुप बी जिला (नॉन एनएबीएच)
बिना लक्षण के मरीज के लिए 5000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसोलेशन बेड 6400 (ऑक्सीजन के साथ)
आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 10400 (पीपीइ किट के साथ)
आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 12000

ग्रुप सी जिला (एनएबीएच)
बिना लक्षण के मरीज के लिए 5000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसोलेशन बेड 6000 (ऑक्सीजन के साथ)
आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 9000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 10800

ग्रुप सी (नॉन एनएबीएच)
बिना लक्षण के मरीज के लिए 4000 (पीपीइ किट के साथ)
आइसोलेशन बेड 4800 (ऑक्सीजन के साथ)
आइसीयू नॉन वेंटिलेटर 7800 (पीपीइ किट के साथ)
आइसीयू वेंटिलेटर के साथ 9000

जांच की भी दर निर्धारित

स्वास्थ्य विभाग की ओर से कुछ प्रकार की जांच की भी दर तय की गयी है. जिसमें एबीजी जांच के लिए 400 रुपये, ब्लड सुगर लेबल के लिए 100 रुपये,  डी-डीमर्स लेबल के लिए 800 रुपये, ह्यूमोग्लोबिन के लिए 150 रुपये, सीटी चेस्ट के लिए 3500 रुपये, एक्स रे चेस्ट के लिए 500 रुपये और इसीजी के लिए 300 रुपये लगेंगे.


त्रिदेव

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!