Global Statistics

All countries
178,607,264
Confirmed
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
161,410,672
Recovered
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
3,867,064
Deaths
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm

Global Statistics

All countries
178,607,264
Confirmed
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
161,410,672
Recovered
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
All countries
3,867,064
Deaths
Updated on Saturday, 19 June 2021, 12:22:53 pm IST 12:22 pm
spot_imgspot_img

गूगल का फायदा उठा रहे साइबर अपराधी,बैंक अधिकारी बन उड़ा लिए 1.30 लाख


देवघर ।

साइबर अपराधी अलग-अलग तरकीब से भोले-भाले लोगों को अपना शिकार बनाने में सफल हो रहे हैं। गुरुवार को बैंक अधिकारी बनकर एक व्यक्ति के बैंक खाता से 1.30 लाख रुपया ठग लेने का मामला प्रकाश में आया है।

गुरुवार को देवघर के विलियम्स टाउन मोहल्ला निवासी विजय कुमार के बयान पर साइबर थाने में मामला दर्ज किया गया है। दर्ज मामले में कहा गया है कि उसने अपने भाई को चेक काटकर दिया था, लेकिन वह किसी कारण से कैश नहीं हुआ। उसने गुगल सर्च इंजन की मदद से बैंक का उपभोक्ता सहायता केन्द्र का नंबर प्राप्त किया और उस नम्बर पर फोन किया। फोन करने पर वहां से बताया गया कि वे एक बैंक अधिकारी का नंबर दे रहे हैं वह उनकी मदद करेंगे। उसने बताए गए नंबर पर फोन किया तो उधर से बैंक अधिकारी बनकर बात कर रहे साइबर बदमाश ने कहा कि पैसा पेटीएम के माध्यम से ट्रांसफर हो जाएगा। विजय उसकी बातों में आ गया और उसके बताए अनुसार उसने काम किया।

जिसके बाद उसके बैंक खाता से एक बार करीब 30 हजार, फिर 69 हजार और तीसरे बार में 31 हजार की निकासी कर ली गयी। पता चला कि 29 हजार व 69 हजार की निकासी बिहार हाजीपुर के एक बैंक खाता के माध्यम से और 31 हजार की निकासी देवघर के इंडियन बैंक के एक खाता से की गई है।

पुलिस प्राप्त जानकारी के आधार पर साइबर बदमाशों का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

गुगल का फायदा उठा रहे साइबर क्रिमिनल

देवघर व जामताड़ा जिले के शातिर साइबर अपराधी अब गुगल के सिस्टम के अंदर घुसे हैं। वे इतने शातिर हैं कि उन्होंने गुगल के सर्च इंजन पर कई बैंक व अन्य संस्थान के उपभोक्ता सहायता केन्द्र के नंबर की जगह अपना नंबर डाल दिया है। ऐसे में जब लोग गुगल सर्च इंजन पर जाकर किसी बैंक या संस्था का उपभोक्ता सहायता नंबर प्राप्त कर फोन करते हैं तो वह फोन साइबर अपराधियों को लग जाता है। जिसका फायदा उठाते हुए बदमाश ठगी कर लेते हैं। विजय के साथ भी ऐसा ही कुछ साइबर बदमाशों ने किया है।


\"बीकानेर\"

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles