Global Statistics

All countries
176,114,494
Confirmed
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
158,326,060
Recovered
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
3,802,239
Deaths
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm

Global Statistics

All countries
176,114,494
Confirmed
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
158,326,060
Recovered
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
All countries
3,802,239
Deaths
Updated on Saturday, 12 June 2021, 7:19:34 pm IST 7:19 pm
spot_imgspot_img

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2019 का रिजल्ट जारी,जसीडीह की तान्या अम्बषट को 237वां रैंक

बीकानेर


जसीडीह/देवघर। 

यूपीएससी सिविल सेवा 2019 परीक्षा के फाइनल आज घोषित हो गए हैं. जिसमें देवघर के छात्रों ने भी परचम लहराया है. देवघर के रवि जैन ने जहां 9वां रैंक प्राप्त
किया है तो वहीं जसीडीह की तान्या अम्बषट ने 237वां रैंक लाकर गौरवान्वित किया है. 

जसीडीह रेलवे में टीटीआई पद पर कार्यरत बसंत कुमार सिंहा की बड़ी पुत्री तान्या अम्बषट ने यूपीएससी की परीक्षा मे दूसरी बार शामिल होकर सफलता प्राप्त की है। तान्या जसीडीह संत फ्रांसिस स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा साल 2010 में पास की, जिसके बाद जवाहर विद्या मंदिर श्यामली रांची से इंटरमीडिएट परीक्षा पास करने के बाद वो इंजीनियरिंग की परीक्षा में शामिल हुईं। जिसमें उत्तीर्ण होने पर बीआईटी देवघर से कंप्यूटर इंजीनियरिंग करने पर उन्हें गुड़गांव की एक कंपनी में जाॅब मिल गयी। नौकरी करने के साथ-साथ तान्या साल 2017 से लगातार यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी में जुट गई थी। हालांकि 2018 की परीक्षा में शामिल होने पर उन्हें काफी कम नंबर से असफलता हाथ लगी। लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और लगातार तैयारी में जुटी रही। नौकरी के साथ तैयारी करने में जब तान्या को परेशानी होने लगी तो उन्होंने अपनी नौकरी को छोड़कर तैयारी में जुट गई। आखिरकारए उन्हें 2019 में सफलता हाथ लगी है। 

तान्या अपनी सफलता का श्रेय अपने मां रूपकला सिन्हा और संत फ्रांसिस स्कूल के शिक्षक बिपीन सर को देती हैं। उन्होंने बताया कि परीक्षा के दौरान 10 से 12 घंटे की पढाई वो करती थी। परीक्षा की तैयारी के दौरान वो सोशल मीडिया से दूर रहीं। तान्या ने कहा कि विद्यार्थियों को सफलता के लिए ऑनलाइन तैयारी के साथ एनसीईआरटी की पुस्तके अवश्य पढ़नी चाहिए।


नमन

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles