Global Statistics

All countries
195,990,126
Confirmed
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 9:23:06 am IST 9:23 am
All countries
175,949,827
Recovered
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 9:23:06 am IST 9:23 am
All countries
4,193,155
Deaths
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 9:23:06 am IST 9:23 am

Global Statistics

All countries
195,990,126
Confirmed
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 9:23:06 am IST 9:23 am
All countries
175,949,827
Recovered
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 9:23:06 am IST 9:23 am
All countries
4,193,155
Deaths
Updated on Wednesday, 28 July 2021, 9:23:06 am IST 9:23 am
spot_imgspot_img

Shravani Mela 2020: हाई कोर्ट ने जारी किया नोटिस, अगली सुनवाई 30 जून को


रांची। 

पुरी में आयोजित हुई भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा की तर्ज पर झारखंड के देवघर में श्रावणी मेला के आयोजन की मांग को लेकर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे की ओर से दायर याचिका पर शुक्रवार को झारखंड हाई कोर्ट में सुनवाई हुई. श्रावणी मेला के आयोजन को लेकर बाबा बैद्यनाथ मंदिर प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सह देवघर के उपायुक्त को झारखंड हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है.

ऐतिहासिक श्रावणी मेला के आयोजन को लेकर कोर्ट में सुनवाई के दौरान उपायुक्त को यह निर्देश दिया गया है कि वे राज्य सरकार से निर्देश प्राप्त कर इस संबंध में कोर्ट को अवगत करायें. कोर्ट ने इस मामले में झारखंड सरकार से जवाब मांगा है. इसके अलावा कोर्ट ने बिहार सरकार को भी प्रतिवादी बनाने का आदेश दिया है. मामले में अगली सुनवाई 30 जून को होगी.

एक महीने तक चलने वाले मेले में प्रतिदिन करीब एक लाख लोग देवघर पहुंचते हैं. बिहार और झारखंड की 108 किलोमीटर की लंबी पट्टी पर लगने वाले मेला का अधिकांश भाग बिहार में पड़ता है. इसके मद्देनजर हाई कोर्ट रांची ने बिहार सरकार को भी पार्टी बनाने का आदेश दिया है.

गौरतलब है कि भाजपा सांसद निशिकांत दुबे की ओर से हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है. इसमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पुरी में भगवान जगन्नाथ रथयात्रा आयोजन का हवाला दिया गया है. उसी तर्ज पर श्रावणी मेला की अनुमति देने की मांग की गई है. जनहित याचिका में यह मांग की गयी है कि सावन के पवित्र माह में बाबा बैद्यनाथ और बासुकीनाथ के मंदिर में भक्तों को पूजा करने की इजाजत दी जाये. याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई के बाद होई कोर्ट ने झारखंड सरकार को नोटिस जारी किया है. अगली सुनवाई 30 जून को होगी. अब सबकी निगाहें अगली सुनवाई पर टिक गई है. 

प्रार्थी की ओर से अधिवक्ता रवि प्रकाश मिश्र ने बताया कि मामले में केंद्र सरकार, राज्य सरकार, पंडा धर्म रक्षिणी बोर्ड, देवघर मंदिर न्यास बोर्ड को प्रतिवादी बनाया गया है. याचिका में कहा गया है कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए प्रोटोकॉल का पालन करते हुए श्रावणी मेला का आयोजन किया जाना चाहिए. प्रार्थी का कहना है कि श्रावणी मेला से करोड़ों लोगों की धार्मिक आस्था जुड़ी हुई है, इसलिए नियमों के अनुसार श्रावणी मेले के आयोजन को अनुमति दी जाये.

झारखंड के देवघर में स्थित बाबा बैद्यनाथ का मंदिर 12 ज्योतिर्लिंग में से एक है.

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!