spot_img

469 परिवारों का राशन कार्ड नहीं, अनाज पहुंचा 53 लोगो का, ग्रामीणो ने किया विरोध


पाकुड़। 

कोरोना वायरस के बचाव और रोकथाम को लेकर लागू लाॅकडाउन के दौरान जरूतरमंदो की समस्याओ का प्रशासन भरपूर ख्याल रख रहा है, बावजुद सभी लोगो की आवश्यकताए पूरी नहीं हो पा रही है। 

अनाज वितरण के मामले में प्रशासन को वैसे ग्रामीण जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं, उन्हे राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। लेकिन हकिकत कुछ और ही है।  कम अनाज को लेकर पंचायतो के मुखिया भी ग्रामीणो के आक्रोश का शिकार हो रहे हैं।  इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियाॅ भी उड़ते दिखा। ताजा मामला पाकुड़ सदर प्रखंड के हिरानंदपुर पंचायत का सामने आया।

पाकुड़ प्रखण्ड के हिरानंदपुर की मुखिया को दस दस किलो चावल के 53 पैकेट जरूरतमंद परिवारो के बीच वितरण के लिए भेजा गया था , ग्रामीणो को अनाज वितरण की जानकारी मिली और सैकड़ो की संख्या में लोग चावल लेने पहॅूचे गये. मुखिया सुमी सोरेन ने जब उन्हे बताया कि 53 जरूरतमन्द लोगो के बीच ही अनाज वितरण किया जा सकता है, तो सैकड़ो की संख्या में आये ग्रामीण भड़क गये और अनाज लेने के साथ उसका वितरण करने का भी विरोध करने लगे। 

ग्रामीण पंचायत के सभी राशनकार्ड विहिन परिवारो को अनाज देने की माॅग करने लेगे मामले की सूचना मिलते ही पुलिस पहुंची और लोगो को सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करने की अपील की पर इसका असर ग्रामीणो में नहीं पड़ा।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रशासन के निर्देश पर वैसे लोगो का सर्वे किया गया था जिनका राशन कार्ड अबतक नहीं बना है। सर्वे में सात सौ लोग राशन कार्ड विहिन पाये गये है। आपूर्ति विभाग से जानकारी मिली है कि 469 लोगो का नाम ऑनलाईन आवेदन हुआ है, मुखिया ने बताया है हमे 53 बोरा कुल 5 क्विटल 30 किलो चावल मिला था जिसे वैसे लोगो के बीच बाॅटने का निर्देश मिला है जो निहायत गरीब है वैसे में क्या होगा ।

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!