Global Statistics

All countries
244,111,962
Confirmed
Updated on Sunday, 24 October 2021, 10:25:04 am IST 10:25 am
All countries
219,463,464
Recovered
Updated on Sunday, 24 October 2021, 10:25:04 am IST 10:25 am
All countries
4,959,231
Deaths
Updated on Sunday, 24 October 2021, 10:25:04 am IST 10:25 am

Global Statistics

All countries
244,111,962
Confirmed
Updated on Sunday, 24 October 2021, 10:25:04 am IST 10:25 am
All countries
219,463,464
Recovered
Updated on Sunday, 24 October 2021, 10:25:04 am IST 10:25 am
All countries
4,959,231
Deaths
Updated on Sunday, 24 October 2021, 10:25:04 am IST 10:25 am
spot_imgspot_img

जल्द बाजार में कम कीमत पर मिलेगा इकोफ्रेंडली मास्क: देवघर डीसी 


देवघर।

बाजार में मास्क की कमी को देखते हुए उपायुक्त नैंसी सहाय के निर्देशानुसार स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं इन दिनों कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने में सक्षम मास्क बनाने का कार्य कर रही हैं। स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए,इसेे पहनने से वायरस के संक्रमण और प्रदूषण से बचा जा सकता है। 
इस संदर्भ में स्वयं सहायता की दीदियों ने बताया कि देवघर जिला अंतर्गत विभिन्न संस्थाओं के साथ जिला प्रशासन द्वारा उन्हें मास्क तैयार करने का ऑर्डर मिला है। इसके  बाद #JSLPS की स्वयं सहायता समूह की विभिन्न संगठनों की दीदियों द्वारा मास्क तैयार करने का कार्य कर रही हैं। साथ ही रोजाना 800 से 1000 मास्क तैयार रही हैं, लेकिन आने वाले दिनों में इस टारगेट को दो हजार रोजाना तक ले जाया जाएगा। फिलहाल 20 महिलाएं मास्क बनाने के कार्य में जुटी हुई हैं और जल्द ही समूह से और भी महिलाओं को जोड़ा जाएगा।

महिलाओं को सशक्त करना हमारी प्राथमिकता: उपायुक्त

इसके अलावे उपायुक्त नैंसी सहाय द्वारा जानकारी दी गई कि मास्क के कालाबाज़ारी और बाजार में मास्क न मिलने की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए ये कार्य सखी मंडल की दीदीयों को सौंपा गया है। इससे रोजगार के नये अवसर पैदा होगें और उनके आय के स्त्रोत में वृद्धि आयेगी। उन्होंने आगे कहा कि इस प्रकार का एक छोटा सा प्रयास एक साथ कई महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा कर देता है और इसका जीता-जागता उदाहरण ग्राम संगठन की महिलाएं हैं। सरकार व जिला प्रशासन के सहयोग से महिलाओं को मास्क बनाने के रोजगार से जोड़ा जा रहा है। इससे इससे महिलाएं न सिर्फ आत्म निर्भर होकर स्वरोजगार कर पा रही हैं बल्कि अपने आय से अपने घर परिवार के लिए कुछ बचत भी कर पाएंगी। यह हम सभी के लिए खुशी की बात है कि हम सभी के साझा प्रयास से अब सखी मंडल की महिलाएं सशक्त होकर स्वाबलंबी हो रही हैं एवं दूसरों को भी अपने पैरों पर खड़ा होकर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रही हैं।


बीकानेर

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!