Global Statistics

All countries
264,557,547
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 2:09:20 pm IST 2:09 pm
All countries
236,811,145
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 2:09:20 pm IST 2:09 pm
All countries
5,252,454
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 2:09:20 pm IST 2:09 pm

Global Statistics

All countries
264,557,547
Confirmed
Updated on Friday, 3 December 2021, 2:09:20 pm IST 2:09 pm
All countries
236,811,145
Recovered
Updated on Friday, 3 December 2021, 2:09:20 pm IST 2:09 pm
All countries
5,252,454
Deaths
Updated on Friday, 3 December 2021, 2:09:20 pm IST 2:09 pm
spot_imgspot_img

मासूम से गैंगरेप के बाद हत्या मामले में तीन को फांसी,चार दिन में कोर्ट ने सुनाया फैसला

Reported By:कुणाल शान्तनु

दुमका।

दुमका में छह वर्षीय मासूम बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या मामले में तीन आरोपी दोषी करार दिए गए हैं। तीनों अभियुक्तों को फांसी की सजा सुनाई गयी है. कोर्ट ने यह फैसला चार दिन में सुनाया। रात में भी कोर्ट बैठी. सोमवार को जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश तौफीकुल हसन की अदालत में गवाही लेने के लिए कोर्ट रात सवा नौ बजे तक खुली रही। मासूम बच्ची की गैंगरेप कर हत्या कर शव को छिपाने के मामले में अभियुक्त मीठू राय, पंकज मोहली और अशोक राय को अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है।

पांच फरवरी को हुई थी घटना 

बच्ची के साथ दरिंदगी की घटना पांच फरवरी 2020 को रामगढ़ प्रखंड क्षेत्र में हुई थी। मामले में कोर्ट ने स्पीडी ट्रायल की नई मिसाल पेश करते हुए करते हुए रात तक गवाही सुनी। कोर्ट में सोमवार रात ही फॉरेंसिक जांच की रिपोर्ट समर्पित की गई। महज तीन कार्य दिवस में 16 गवाहों के बयान दर्ज किए गए। रात में ही अभियोजन साक्ष्य को बंद करते हुए बचाव पक्ष को साक्ष्य का मौका दिया गया, लेकिन बचाव पक्ष की ओर से कोई साक्ष्य नहीं आने पर रात में ही तीनों आरोपियों का न्यायालय में सफाई बयान हुआ।  

फैसले को लोग न्याय की नजीर के रूप में देख रहे

मंगलवार की सुबह से फैसले को लेकर कोर्ट परिसर में गहमागहमी थी। पहले तीनों को दोषी करार दिया गया। फिर कोर्ट ने फांसी की सजा सुना दी। इस फैसले को लोग न्याय की नजीर के रूप में देख रहे हैं। बता दें कि यह घटना 5 फरवरी 2020 को घटी थी। इस मामले में 27 फरवरी को न्यायालय में आरोप गठन किया गया। इसके बाद सुनवाई शुरू हुई। तीन दिन की सुनवाई के बाद न्यायालय ने आरोपियों को दोषी करार दिया। तीनों को फांसी की सजा सुनाई गई है। घटना के 28 दिनों के अंदर ही दोषियों को सजा सुनाई गई। दुमका पॉक्सो कोर्ट ने गैंगरेप और हत्या के मामले में तीनों अभियुक्तों मीठू राय, पंकज मोहली और अशोक राय को अपहरण, गैंगरेप और हत्या के मामले में दोषी करार दिया। अभियोजन पक्ष ने तीनों को फांसी की सजा की मांग की है। सहमति जताते हुए कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई। पांच फरवरी को छ: साल की मासूम बच्ची के साथ रिश्ते के एक चाचा व उसके दो साथियों ने सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या कर दी थी। इस मामले का स्पीडी ट्रायल पूरे देश में नजीर बना है।  

क्या है मामला 

पांच फरवरी 2020 को रामगढ़ प्रखंड क्षेत्र में बच्ची के साथ दरिंदगी का आरोप किसी और पर नहीं बच्ची के रिश्ते के चाचा पर ही है. बच्ची के रिश्ते के चाचा मीठू राय और उसके साथी पंकज मोहली और अशोक राय ने गैंगरेप के बाद बच्ची की हत्या कर दी। बच्ची नाना के घर रहकर पढ़ती थी। उसके रिश्ते का चाचा वहां आया था और बच्ची को सरस्वती मेला दिखाने के बहाने ले गया था। दुमका पुलिस ने यह खुलासा किया था कि तीनों आरोपियों ने शराब पीने के बाद दरिंदगी की। रिश्ते के चाचा ने दो दोस्तों के साथ बच्ची से गैंगरेप व अप्राकृतिक यौनाचार के बाद गला दबाकर हत्या कर दी। फिर शव रामगढ़ के महुबना गांव के बाहर खेत में गड्ढे में दबा दिया था। सात फरवरी को बच्ची की लाश बरामद की गई थी। मामले में बच्ची के पिता ने अपने ही रिश्ते के भाई मिट्ठू राय के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी। घटना के बाद आरोपी चाचा मुंबई भाग गया था। मोबाइल लोकेशन के आधार पर उसे दुमका पुलिस ने 11 फरवरी को मुंबई की ठाणे पुलिस की सहायता से कल्याण स्टेशन से गिरफ्तार किया था। मिट्ठू राय के निशानदेही पर ही गैंगरेप के दो अन्य आरोपियों अशोक राय और पंकज राय को गोड्डा जिला के पोड़ैयाहाट से गिरफ्तार किया गया था।  


विनायक

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!