Global Statistics

All countries
347,933,178
Confirmed
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
275,097,794
Recovered
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
5,606,255
Deaths
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm

Global Statistics

All countries
347,933,178
Confirmed
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
275,097,794
Recovered
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
All countries
5,606,255
Deaths
Updated on Saturday, 22 January 2022, 10:43:56 pm IST 10:43 pm
spot_imgspot_img

महिलाओं को सशक्त व स्वाबलंबी बनाने की पहल, मधुपुर में “दीदी कैफे” का उद्घाटन

बीकानेर


मधुपुर/देवघर।

सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत अल्पसंख्यक कल्याण एवं निबंधन मंत्री हाजी हुसैन अंसारी व उपायुक्त नैन्सी सहाय के द्वारा संयुक्त रूप से मधुपुर प्रखण्ड कार्यालय परिसर में  ’’दीदी कैफे’’ का उद्घाटन किया गया।

इस दौरान मंत्री हाजी हुसैन अंसारी ने उपायुक्त नैन्सी सहाय के पहल की तारीफ करते हुए कहा कि महिलाओं को सशक्त कर रोजगार से जोड़ने का यह एक बेहतर माध्यम है। सखी मंडल की महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में सरकार व जिला प्रशासन आगे और भी बेहतर कार्य करेगी। आने वाले समय में सभी प्रखण्ड कार्यालय में दीदी कैफे की शुरूआत होगी, जो कि वाकई काबिले तारीफ है। 

दीदी कैफ़े

कार्यक्रम के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उपायुक्त नैन्सी सहाय ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जेएसएलपीएस की दीदीयों को सशक्त व स्वावलंबी बनाने के लिए प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार से उन्हें जोड़ने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है, ताकि वे स्वरोजगार कर आत्मनिर्भर हो सके। 

साथ ही दीदी कैफे के संचालन के विषय में जानकारी देते हुए डीसी ने कहा कि यहाँ दीदी कैफे का संचालन पूरी तरह से सखी मंडल की दीदीयों द्वारा किया जायेगा। इससे प्रखण्ड मुख्यालय में कार्यरत कर्मियों एवं वहां आने-जाने वाले लोगों के लिए दीदी कैफे के माध्यम से घर जैसा भोजन-नास्ता उपलब्ध तो होगी हीं साथ हीं दीदी कैफे के संचालन से सखी मंडल की दीदीयों लिए रोजगार के नये अवसर पैदा होगें एवं उनके आय के स्त्रोत में वृद्धि आयेगी। 

डीसी ने आगे कहा कि इस प्रकार का एक छोटा सा प्रयास एक साथ कई महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा कर देता है और इसका जीता-जागता उदाहरण ग्राम संगठन की महिलाएं हैं। सरकार व जिला प्रशासन के सहयोग से विभिन्न गांव की महिलाओं को प्रशिक्षित कर दीदी कैफे के रोजगार से जोड़ा जा रहा है। इससे वे न सिर्फ आत्मनिर्भर होकर स्वरोजगार कर पा रही हैं बल्कि अपने आय से अपने घर परिवार के लिए कुछ बचत भी कर पाती हैं, जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार देखने को मिल रहा है। यह हम सभी के लिए खुशी की बात है कि हम सभी के साझा प्रयास से अब सखी मंडल की महिलाएं सशक्त होकर स्वाबलंबी हो रही हैं एवं दूसरों को भी अपने पैरों पर खड़ा होकर आगे बढ़ने हेतु प्रेरित कर रही हैं।   


विनायक

Leave a Reply

spot_img

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!