spot_img

बेटी है तो कल हैः डीसी नैन्सी सहाय 


देवघर।  

देवघर उपायुक्त नैन्सी सहाय ने समाहरणालय परिसर से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’’ अभियान के तहत जागरूकता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

डीसी

इस दौरान उन्होंने जानकारी दी कि आज सरकार द्वारा चलायी जा रही महत्वाकांक्षी योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ जिला प्रशासन की ओर से हर संभव सुविधा देवघर जिला की बेटियों को दी जा रही है। आज महिलाओं की महत्ता हमारे समाज में लगातार बढ़ रही है। साथ हीं काफी दमदार तरीके से अपनी उपस्थिति भी दर्ज करा रही है। आज हम अपने आस-पास भी देख सकते है कि कैसे बेटियां हमारे देश को गौरवान्वित कर रही है। आज की महिलाएं देश, राज्य के विकास में बराबर की भागीदारी निभा रही है। साथ हीं अपना क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कर रही है। पूर्व की समय में ऐसा नहीं था। उस वक्त कई तरह की भ्रांतिया, कुरीतियां हमारे समाज में फैली थी उन सभी भ्रांतियों, कुरीतियों को दूर करते हुए आज की नारी विकास की नयी गाथा लिख रही है तथा अपने साथ-साथ पूरे समाज के विकास में अपनी सहभागिता निभा रही है।

डीसी ने कहा कि आज महिलाओं के आर्थिक स्तर से लेकर समाजिक स्तर में जो बदलाव आये है। उसमे विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं यथा- लक्ष्मी लाडली योजना, सुकन्या समृद्धि योजना एवं भु्रण परिक्षण नवजात बच्चियों को गर्भ में हत्या इत्यादि सरकार की नितियों का भी योगदान रहा है। इन सब योजनाओं एवं सरकार के नितियों के बावजूद अभी और सुधार की गुंजाईश है। आप सभी राज्य सरकार, केन्द्र सरकार एवं विभिन्न संस्थाओं द्वारा चलाए जा रहे जनकल्याणकारी योजनाओं का पूर्णरूपेन उपयोग करे। आज हम सभी को कृतसंकल्पित होकर पहले पढ़ायी फिर बिदायी के साथ-साथ बेटा बेटी एक समान शिक्षा व पर्याप्त पोषण देना सुनिश्चित करना होगा। बच्चियों के साथ भेदभाव जारी रहा तो लड़के और लड़कियों के बीच का चिंताजनक स्थिति तक पहुंच चुका अनुपात और भी गहरा हो जाएगा। आज के समय में बेटियों के साथ भेदभाव करना एक मानसिक बीमारी को दर्शाता है। वर्तमान समय में महिलाओं के अधिकारों की रक्षा व उनके सम्मान से हीं आर्दश समाज की कल्पना को साकार कर पाएंगे।
इसके अलावे उपायुक्त नैन्सी सहाय ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि पूराने कुरीतियों को समाप्त करते हुए बेटियों के लिए एक नया और शिक्षित समाज के निर्माण में आप सभी की भागीदारी अपेक्षित है, ताकि अन्य राज्यो के लिए एक उदाहरण के रूप में देवघर जिला को पेश किया जा सके। 
कार्यक्रम के बाद उपायुक्त नैन्सी सहाय ने हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की। साथ ही बेटी बचाव, बेटी पढ़ाव अभियान से संबंधित पम्पलेट एवं एक पत्र बेटियों के पिता के नाम का वितरण किया।  
इस अवसर पर अनुमंडल पदाधिकारी विशाल सागर, डीआरडीए निदेशक, नयनतारा केरकेट्टा, जिला भूमि सुधार उप समाहर्ता उमा शंकर प्रसाद, जिला आपूर्ति पदाधिकारी विशाल दीप खलखो, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी अनिता कुजूर एवं संबंधित अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थें।  


brewbakes                                           

Leave a Reply

Hot Topics

Related Articles

Don`t copy text!